sabrimala compressed 1 ganeshavoice.in इन मंदिरों में महिलाओं का प्रवेश है वर्जित, जानिए क्या है खास वजह : Religion
धर्म दर्शन राशिफल

इन मंदिरों में महिलाओं का प्रवेश है वर्जित, जानिए क्या है खास वजह : Religion

Religion : भगवान पर आस्था और श्रद्धा (faith and belief) होने के बाद भी कुछ ऐसे मंदिर हैं, जहां महिलाओं (womens) का प्रवेश वर्जित है तो कुछ मंदिर (temples) ऐसे भी हैं, जहां पर महिलाओं (womens) के प्रवेश को लेकर कुछ नियम बनाए गए हैं। आइए ऐसे ही कुछ मंदिरों (temples) के बारे में जानते हैं…

sabrimala compressed 1 ganeshavoice.in इन मंदिरों में महिलाओं का प्रवेश है वर्जित, जानिए क्या है खास वजह : Religion

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर में स्थित बाबा बालक नाथ मंदिर सदियों पुराना बताया जाता है। कहते हैं कि पहले महिलाओं का प्रवेश वर्जित था लेकिन अब नहीं है। लेकिन अभी भी आस्था के चलते यहां महिलाएं बाबा की गुफा के बाहर बने चबूतरे से ही दर्शन करती हैं।

मध्य प्रदेश के गुना में स्थित जैन मंदिर में भी महिलाओं के प्रवेश पर एक नियम है। यहां भी कोई भी महिला या लड़की वेस्टर्न परिधान पहनकर प्रवेश नहीं कर सकती है। इस मंदिर का मूल नाम श्री शांतिनाथ दिगंबर जैन अतिशय क्षेत्र है, जो 1236 में बनाया गया था।

इन लोगों पर है शनि की नजर, कुप्रभाव से बचने के लिए करें ये उपाय 

माँ कामाख्या का प्रसिद्ध मंदिर उत्तर पूर्व भारत में असम राज्य की राजधानी गुवाहाटी के पश्चिमी भाग में स्थित नीलाचल पहाड़ी के मध्य में स्थित है। खास बात ये है कि इस मंदिर में माता की पूजा के लिए कोई मूर्ति स्थापित नहीं है बल्कि मंदिर परिसर में चट्टान है जिसकी पूजा की जाती है। यहां मासिक धर्म के दौरान मंदिर में कोई भी महिला नहीं जाती है।

2022 का भविष्यफल, मेष राशि वार्षिक राशिफल, कैसा रहेगा नया साल 

केरल का पद्मनाभस्वामी मंदिर देश भर में प्रसिद्ध है। देश के सबसे अमिर मंदिरों में से एक है। बताया जाता है कि सबसे पहले भगवान विष्णु की इसी स्थान पर प्रतिमा प्राप्त हुई थी। कहते हैं कि यहां महिलाएं भगवान विष्णु की पूजा तो कर सकती हैं लेकिन मंदिर कक्ष में प्रवेश नहीं कर सकतीं है। महिलाओं के साथ-साथ यहां पुरुषों को भी देसी भूषभूषा में मंदिर जाना होता है।

इस तरह के लोगों को कभी भी उधार नहीं देना चाहिए पैसा Money Mantra

सबरीमाला दक्षिण भारत के प्रसिद्ध हिंदू मंदिरों में से एक है। यहां करोड़ों श्रद्धालु हर साल दर्शन के लिए आते हैं। यह मंदिर हिंदू ब्रह्मचर्य देवता अयप्पन को समर्पित है। कहा जाता है कि सबरीमाला मंदिर में आने के लिए श्रद्धालुओं को 41 दिनों का व्रत रखना पड़ता है। लेकिन महिलाओं को बीच में पीरियड हो जाते हैं जिस कारण से वह व्रत पूरा नहीं कर पाती हैं, इसलिए उन्हें मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाता है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in