geeta

श्रीमद् भगवद् गीता (हिन्दी अनुवाद सहित)

श्रीमद् भगवत् गीता में कुल 18 अध्याय हैं। आपने जिस अध्याय को पढ़ना है, उस अध्याय के नीचे दिए गए लिंक पर क्लीक करके पाठ प्रारंभ कर सकते हैं…

श्रीमद् भगवद् गीता का महत्व

पहला अध्याय : अर्जुनविषादयोग

दूसरा अध्याय : सांख्ययोग

तीसरा अध्याय : कर्मयोग

चौथा अध्याय : ज्ञानकर्मसंन्यासयोग

पाँचवाँ अध्याय : कर्मसंन्यासयोग

छठा अध्याय : आत्मसंयमयोग

सातवाँ अध्याय : ज्ञानविज्ञानयोग

आठवाँ अध्याय : अक्षरब्रह्मयोग

नौवाँ अध्याय : राजविद्याराजगुह्ययोग

दसवाँ अध्याय : विभूतियोग

ग्यारहवाँ अध्याय : विश्वरूपदर्शनयोग

बारहवाँ अध्याय : भक्तियोग

तेरहवाँ अध्याय : क्षेत्र-क्षेत्रज्ञविभागयोग

चौदहवाँ अध्याय : गुणत्रयविभागयोग

पंद्रहवाँ अध्याय : पुरुषोत्तमयोग

सोलहवाँ अध्याय : दैवासुरसम्पद्विभागयोग

सत्रहवाँ अध्याय : श्रद्धात्रयविभागयोग

अठारहवाँ अध्याय : मोक्षसंन्यासयोग