navratri2021 1 ganeshavoice.in मनवांछित फल पाने के लिए माता को 9 दिनों तक अर्पित करें उनका पसंदीदा भोग Navratri 2021 
नवरात्रि राशिफल व्रत एवं त्यौहार

मनवांछित फल पाने के लिए माता को 9 दिनों तक अर्पित करें उनका पसंदीदा भोग Navratri 2021 

Navratri 2021 : मां शक्ति ​की विशेष पूजा का पर्व शारदीय नवरात्रि पर्व 7 अक्टूबर से शुरू हो चुका है। इस 9 दिवसीय दुर्गा पूजा के दौरान मां शक्ति के 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है। माता के नौ रूप अलग अलग शक्तियों से संपन्न हैं और प्रसन्न होने पर भक्त की हर मुराद को पूरा करते हैं। इस दौरान माता के भक्त घर पर दुर्गा मां की प्रतिमा की और कलश की स्थापना करते हैं।

navratri2021 1 ganeshavoice.in मनवांछित फल पाने के लिए माता को 9 दिनों तक अर्पित करें उनका पसंदीदा भोग Navratri 2021 

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

मां को प्रसन्न करने के लिए नौ दिनों तक माता के लिए व्रत रखते हैं। नौवें दिन नौ कन्याओं को मां के 9 स्वरूपों का प्रतीक मानकर भोजन कराते हैं और उनकी सेवा करते हैं। इसके बाद हवन आदि कर अपना व्रत पूर्ण करते हैं। यदि आप इस बार अपने घर पर कलश स्थापना नहीं कर पा रहे हैं, तो नौ दिनों तक माता की विशेष पूजा करके उनके नौ स्वरूपों को पसंदीदा भोग अर्पित करें। इससे माता प्रसन्न होंगी और मनवांछित फल प्रदान करेंगी।

बेकार के झगड़ों से चाहिए मुक्ति तो दुर्गा सप्तशती का यह उपाय जरूर करें 

मां शैलपुत्री
मां का पहला स्वरूप शैलपुत्री के नाम से जाना जाता है। माता शैलपुत्री वृषभ पर आरूढ़ होती हैं और सफेद चीजों की शौकीन हैं। इन्हें घी से बनी सफेद वस्तुएं अर्पित करें या घी भी अर्पित कर सकते हैं।

मां ब्रह्मचारिणी
दूसरा स्वरूप माता ब्रह्मचारिणी के नाम से जाना जाता है। माता के इस रूप की पूजा व्यक्ति को दीर्घायु प्रदान करती है। साथ ही पूजन करने वाले में वैराग्य, सदाचार और संयम बढ़ने लगता है। माता को घर में चीनी या मिश्री से बने मिष्ठान का भोग लगाएं। आप चाहें तो मिश्री भी चढ़ा सकते हैं।

मां चंद्रघंटा
तीसरा स्वरूप मां चंद्रघंटा के नाम से प्रसिद्ध है। सांसारिक कष्टों से मुक्ति देने वाली माता चंद्रघंटा को दूध से बनी चीजें पसंद हैं। आप उन्हें बर्फी, खीर या दूध से बनी अन्य चीजें अर्पित कर सकते हैं।

अमीर बनना चाहते हैं तो नवरात्रि में 9 दिन तक कर लें ये काम

मां कूष्मांडा
चौथा दिन माता के चौथे रूप मां कूष्मांडा को समर्पित है। माता कूष्मांडा का पूजन करने से व्यक्ति की बौद्धिक क्षमता बेहतर होती है और वो जीवन में सही निर्णय ले पाता है। माता को मालपुआ बेहद पसंद है। इसलिए उन्हें मालपुआ का भोग लगाएं और एक ब्राह्मण को भी मालपुआ दान करें। इसके बाद परिवार के सभी लोग इस प्रसाद को ग्रहण करें। ऐसा करने से माता की कृपा परिवार पर जरूर होती है।

मां स्कंदमाता
पांचवें दिन मां स्कंदमाता की पूजा की जाती है। स्कंदमाता शारीरिक रोगों से मुक्ति देने वाली और नि:संतान दंपति को संतान सुख प्रदान करने वाली देवी हैं। उन्हें केले अत्यं​त प्रिय हैं। इसलिए मां के इस रूप को केले का भोग अर्पित करके किसी ब्राह्मण को दान करें और स्वयं भी प्रसाद ग्रहण करें।

घर की दीवार पर पीपल का पेड़ उगना शुभ या अशुभ, दुर्भाग्य से बचने के लिए करें ये उपाय

मां कात्यायनी
माता का छठां रूप मां कात्यायनी के नाम से जाना जाता है। मां कात्यायनी सुंदर रूप प्रदान करती हैं और परिवार के विघ्न को दूर करती हैं। इन्हें लौकी और शहद बहुत प्रिय है। आप इन्हें शहद अर्पित कर सकते हैं और लौकी का हलवा या खीर बनाकर भोग लगा सकते हैं।

मां कालरात्रि
माता के सातवें रूप को मां कालरात्रि के नाम से जाना जाता है। दुष्टों का नाश करने वाली माता सारे दुख और दरिद्रता को हर लेती हैं। इन्हें गुड़ अति प्रिय है। इसलिए मां को गुड़ या गुड़ से बनी वस्तुएं चढ़ानी चाहिए।

बदलने वाली है शनि की चाल, इन राशि वालों को होगा सबसे ज्यादा फायदा 

मां महागौरी
माता का आठवां रूप महागौरी कहलाता है। महागौरी के पूजन से व्यक्ति के पाप दूर होते हैं और सुख समृद्धि घर में आती है। इन्हें हलवा और नारियल अति प्रिय है। इसलिए अष्टमी के दिन हलवा और नारियल का भोग जरूर लगाना चाहिए।

मां सिद्धिदात्रि
माता के नौंवे स्वरूप को माता सिद्धिदात्रि कहा जाता है। धन-धान्य, सुख समृद्धि और संपन्नता प्रदान करने वाली मातारानी को काले चने, खीर और हलवा पूड़ी आदि बहुत पसंद है। इसलिए नौंवे दिन माता के लिए काले चने, हलवा पूड़ी या खीर पूड़ी बनाना चाहिए। भोग लगाने के बाद ब्राह्मण को दान करें और जरूरतमंदों को भी प्रसाद बांटें। इसके बाद स्वयं ग्रहण करें और परिवार को खिलाएं।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in