1604946452084 1 ganeshavoice.in इन सरल से उपायों से दो गुणा होगी आमदनी और बढ़ेगा आपका कारोबार
वास्तु टिप्स

इन सरल से उपायों से दो गुणा होगी आमदनी और बढ़ेगा आपका कारोबार

कारोबार में असफलता मिलने के कई कारण हो सकते हैं। कई बार मेहनत करने और अथक प्रयासों के बाद भी कारोबार में सफलता नहीं मिल पाती है। अगर आप भी काम धंधे में असफलता की समस्‍या से परेशान है या आप जो भी काम करते हैं उसमें आपको असफलता ही मिलती है तो आपकी इस समस्‍या का इन सरल से उपायों से किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं उन उपायों के बारे में जो आपके व्‍यापार में वृद्धि और सफलता प्रदान कर सकते हैं।

समस्या है तो समाधान भी है। ज्योतिषी से अभी बात करें। क्लीक करें।

वास्‍तु के नियमों के अनुसार व्‍यापारियों को अपने कार्यस्‍थल में दक्षिण और पश्चिम दिशा के कोण पर बैठना चाहिए। वास्‍तु के अनुसार यह कोण मालिक से संबंध रखता है।

बनना है करोड़पति तो बिल्ली की जेर का यह उपाय जरुर आजमाएं

अगर आपने घर पर ही ऑफिस बना रखा है या आप घर से ही काम करते हैं तो अपने कार्यों के लिए घर की दक्षिण और पश्चिम दिशा को चुनें। व्‍यापारिक सौदे के लिए ये जगह उत्तम रहती है।
व्‍यापारिक सफलता के लिए कंपनी या दुकान का नाम दक्षिण दिशा की दीवार पर लाल रंग के पेंट या स्‍टीकर से लिखवाएं। इससे व्‍यापार में लाभ मिलता है और आय में भी वृद्धि होती है।
ऑ‍फिस की दीवार की ओर पीठ करके बैठना अशुभ माना जाता है। आपका ऐसा करना आपके ही काम को नुकसान पहुंचा सकता है।
उत्तर पूर्व की ओर मुख करके बैठना ज्‍यादा शुभ रहता है। ऐसा करने से व्‍यापार की सारी परेशानियां और नुकसान दूर होता है और धन लाभ में वृद्धि होती है।

भाग्य को चमकाने के लिए आप कर सकते हैं ये सरल उपाय

अपने ऑ‍फिस या दुकान में बेकार की चीजों को इधर-उधर ना फेंके। वास्‍तु के अनुसार ऐसा करना नुकसान देता है।
अपने कार्यस्‍थल में कैश बॉक्‍स या गल्‍ले को उत्तर की दिशा में रखें। ऑफिस की पश्चिम या दक्षिण दिशा में सामान, अलमारी या फर्नीचर आदि रखें।
अगर आप अपने व्‍यापार में तरक्‍की में पाना चाहते हैं तो अपने ऑफिस के ईशान कोण यानि उत्तर पूर्व की दिशा को खाली रखें। यहां पर किसी भी तरह का बेकार का सामान या कबाड़ ना रखें। ऑफिस में मंदिर भी ईशान कोण में ही रखें।
जब भी रोज़ सुबह आप दुकान खोलें तो उस समय ‘ॐ महालक्ष्‍मयै च विद्महे विष्‍णुपत्‍नी, च धीमहि तन्‍नो लक्ष्‍मी प्रचोदयात्’ मंत्र का जाप अवश्य करें।

कभी भी भूल कर घर और आफिस में नहीं रखने सूखे फूल, हो जाता है ऐसा

अपनी दुकान या फैक्‍ट्री के आसपास पेड़-पौधे लगाएं। इससे काम में सकारात्‍मक ऊर्जा बनी रहती है।
ऑफिस के मालिक की कुर्सी के पीछे की दीवार मजबूत होनी चाहिए। इससे वहां काम करने वाले लोगों और मालिक में कभी भी आत्‍मविश्‍वास की कमी नहीं होती है।
ऑफिस में जो व्‍यक्‍ति अकाउंट का काम संभालता हो उसे दक्षिण पूर्व दिशा में बैठना चाहिए। मार्केटिंग करने वाले लोगों के लिए उत्तर-पश्चिम दिशा बेहतर रहती है।

अगर आपकी दूकान या आॉफिस किसी भी वेध दोष से ग्रसित हैं (मार्ग वेध/स्तंभ वेध/वृक्ष वेध या द्वार वेध) तो द्वार के ठीक ऊपर मध्य में पन्ना गणेश (मरकज) की स्थापना करवायें। सभी वास्तुदोष समाप्त हो जायेंगे।

समस्या है तो समाधान भी है। ज्योतिषी से अभी बात करें। क्लीक करें।

अगर आप इन उपायों और वास्‍तु सुझावों का ध्‍यान रखते हैं तो आपके व्‍यापार की सभी समस्‍याएं दूर हो जाएंगी और व्‍यापार में वृद्धि भी होगी।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *