Varanasi batuk bhairav
धर्म दर्शन राशिफल

यहां शिव स्वरुप को लगाया जाता है नॉनवेज का भोग : Varanasi batuk bhairav

Varanasi batuk bhairav : इस लेख के हैडिंग को पढ़ने के बाद हर व्यक्ति को आश्चर्य होगा। क्या भगवान शिव यानि कि भोलेनाथ को नॉनवेज यानि मांस का भोग अर्पित किया जा सकता है। लेकिन इस बात में सच्चाई है।

Varanasi batuk bhairav
Varanasi batuk bhairav

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

सभी राशियों का वार्षिक राशिफल 2022 पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

दरअसल महादेव का एक ऐसा मंदिर है जहां चिकन, मटन और मछली को प्रसाद के तौर पर चढ़ाया जाता है। मंदिर में ऐसा किसी खास अवसर पर नहीं, बल्कि रोजाना होता है। भगवान शिव का ऐसा अद्भुत मंदिर कहां है और यहां नॉनवेज का भोग लगाने के पीछे की वजह क्या है इसे जानते हैं।

विदाई के समय Bride दुल्हन क्यों फेंकती है चावल, क्या है इसका राज

Varanasi batuk bhairav

लगाया जाता है नॉनवेज का भोग
दरअसल देश की धार्मिक राजधानी काशी के एक मंदिर में नॉनवेज का भोग लगाया जाता है। काशी के बटुक भैरव मंदिर में शिव स्वरुप बटुक को भक्त नॉनवेज और शराब चढ़ाते हैं। इसके अलावा बटुक भैरव को बिस्किट्स और टॉफियां भी भोग लगाई जाती हैं। मान्यता है कि बटुक भैरव को इन ची़जों का भोग लगाने से मनोकामना पूरी होती है।

2022 में भाग्यशाली रहेंगे इन राशियों के लोग, होगी खूब तरक्की lucky zodiac

होती है तीनों रूपों की पूजा
इस मंदिर में शिव सात्विक, राजसी और तामसिक तीनों रुपों विराजमान हैं। यहां शरद ऋतु के दौरान बाबा के तीनों रूपों का विशेष श्रृंगार किया जाता है। सुबह के समय शिव स्वरुप बाल बटुक को टॉफी, बिस्किट और फल के अलावा मांस और मदिरा का भोग लगाया जाता है।

दोपहर के वक्त राजसिक रूप में शिव को रोटी, दाल, चावल और सब्जी आदि का भोग लगाया जाता है। इलके बाद शाम के समय आरती के बाद भैरव स्वरुप शिव को मछली, मटन, चिकन के साथ-साथ मदिरा भी भोग लगाया जाता है। इतना ही नहीं बाबा को प्रसन्न करने के लिए शराब से भरा खप्पड़ भी चढ़ाया जाता है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in