shanidev aarti 2021 1
चमत्कारी उपाय राशिफल

शनिदेव की कुदृष्टि से मुक्ति पाने के लिए सूर्य उदय से पहले करें ये सरल उपाय Shanidev ke upay

Shanidev ke upay :  शनिदेव को सभी ग्रहों में क्रुर देवता माना गया है, जबकि ऐसा नहीं है। शनिदेव न्याय के देवता हैं। एकमात्र शनि ऐसा ग्रह है, जो मनुष्य को ज्योतिषी और मंदिर की ओर ले जाता है। वर्तमान समय में कई राशियों पर शनि की ढैय्या और साढ़ेसाती भी चल रही है।

shanidev aarti 2021 1

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

सहारनपुर स्थित श्री बालाजी धाम के संस्थापक गुरु श्री अतुल जोशी जी महाराज बताते हैं कि वैसे शनि की शांति का उपाय रात्रि के समय किया जाए तो ज्यादा फल प्राप्त होता है। क्योंकि शनि ग्रह का ज्यादा प्रभाव रात्रि में होता है। शनि ग्रह वायु विकार, नसों में विकार, पैरों में दर्द, मान हानि, धन हानि कराता है। यदि शत्रु राशि या 6, 8 , 12वें घर का मालिक शनिदेव हैं।

शारदीय नवरात्रि : करना है किसी का भी वशीकरण और पाना है धन लाभ तो ये उपाय है

शनि देव को शांत करने के उपाय/Shanidev ke upay

1- शनि देव का मंत्र का जाप सूर्य उदय से पहले या सूर्यास्त के बाद करना चाहिए। मंत्र है- ऊं शं शनैश्चराय नम:
2- पीपल का वृक्ष या सभी वृक्ष पर जल और दीपक जलाएं।
3- शनि शिला पर सरसो का तेल, काले उड़द का दान शनिवार को करना चाहिए।
4- शुक्रवार की रात्रि में सरसो का तेल लोहे के कटोरे में रखकर अपने बैड के पास रखें, फिर शनिवार को सूर्य उदय से पहले शनि मंदिर में जाकर 108 शनि मंत्र का जाप करके तेल में मुंह देखना चाहिए। इसके बाद इस तेल को शनि मंदिर में दान कर सकते हैं।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

 

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in