mangal copy
ग्रह गोचर

मंगल का कर्क राशि में गोचर mangal ka rashi parivartan जानिए आपकी राशि पर पड़ेगा क्या असर

mangal ka rashi parivartan : ज्योतिष शास्त्र में मंगल को उग्र ग्रह माना गया है। नवग्रहों में मंगल को सेनापति का दर्जा प्राप्त है। मंगल का शुभ होना जीवन में लक्ष्यों को प्राप्त करने में अहम भूमिका निभाता है। मंगल व्यक्ति को साहसी बनाता है, लक्ष्य की प्राप्ति में साहस की विशेष भूमिका होती है। कर्क राशि में मंगल का गोचर मेष से मीन राशि तक के जातकों को प्रभावित करेगा। कर्क राशि में मंगल सबसे कमजोर हो जाता है। ज्योतिष गणना के अनुसार मंगल ग्रह 2 जून 2021 को प्रात: 6 बजकर 39 मिनट पर मिथुन राशि से कर्क राशि में प्रवेश कर गए हैं और 20 जुलाई, 2021 तक रहेंगे। अब चलिए जानते हैं कि मंगल के कर्क राशि में होने वाले इस गोचर का सभी 12 राशियों के जातकों पर क्या और कैसा प्रभाव पड़ने वाला है:-

mangal copy

मेष
मेष राशि के जातकों के लिए मंगल ग्रह का ये गोचर कार्यक्षेत्र के लिहाज़ से शुभ रहेगा, क्योंकि इस दौरान आप अपने कार्यस्थल पर बेहतर प्रदर्शन देने में सफल रहेंगे। जहां नौकरी पेशा लोगों को पदोन्नति मिलेगी, तो वहीं व्यापारी जातक भी बिज़नेस का विस्तार करने में सफल रहेंगे। इससे आपका मान-सम्मान भी बढ़ेगा। हालांकि बावजूद इसके आपको अपने मन को शांत रखते हुए, अपने माता-पिता के स्वास्थ्य के प्रति भी सतर्कता बरतने की ज़रूरत होगी।

वृषभ
वृषभ राशि वाले जातकों के लिए मंगल ग्रह का गोचर कुछ तनाव और परेशानियां लेकर आ रहा है। जिसके परिणामस्वरूप खासतौर से आपका कार्यक्षेत्र सबसे अधिक प्रभावित होगा। इस दौरान आपके कार्यस्थल पर काम करने के आपके तरीके पर आपके वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा नजर रखी जाएगी। आर्थिक पक्ष के लिहाज से सबसे अधिक कारोबारी जातकों के लिए यह समय अनुकूल रहेगा। इस अवधि में आप अपने व्यापार में विस्तार करने के लिए कुछ फैसले भी ले सकते हैं।

मिथुन
मंगल देव आपकी ही राशि से निकलकर कर्क राशि में विराजमान होंगे। ऐसे में आपको इस दौरान कार्यस्थल पर अपने शब्दों के प्रति सतर्कता बरतने की हिदायत दी जाती है, क्योंकि योग बन रहे हैं कि आप न चाहते हुए किसी को आहत कर दें। आर्थिक जीवन में भी इस दौरान आपके खर्चों में वृद्धि आपको आर्थिक तनाव दे सकती है। यदि आप शादीशुदा हैं तो आपको अपने ससुराल पक्ष से किसी प्रकार का धन, उपहार या संपत्ति मिलने के योग बनेंगे।

कर्क
मंगल आपकी ही राशि में इस गोचर के दौरान प्रवेश किया है, ऐसे में आपको इसके परिणामस्वरूप कुछ कारणों से तनाव व अशांति मिलने की आशंका रहेगी। इस दौरान आपके स्वभाव में आक्रामकता की वृद्धि भी होगी, जिसके चलते आपको अपने क्रोध पर नियंत्रण रखने की खास सलाह दी जाती है। हालांकि यह गोचर आपके धन के साथ-साथ कार्यक्षेत्र में भी अनुकूल फल देने का कार्य करेगा। जिससे आप अलग-अलग माध्यमों से धन प्राप्त करने में सक्षम होंगे।

सिंह
मंगल देव के कर्क राशि में गोचर के दौरान सिंह राशि के जातकों को अपने कार्यक्षेत्र को लेकर कई प्रकार के तनाव का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको विशेषतौर पर इस समय किसी भी प्रकार के जोखिम भरे कार्यों या निवेश करने से बचना होगा, अन्यथा आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। आर्थिक रूप से भी किसी प्रकार का धन खर्च, आपकी समस्या बढ़ा सकता है। दांपत्य जीवन में आपको अपने जीवनसाथी की सेहत के प्रति विशेष सावधानी बरतनी होगी।

कन्या
कन्या राशि के जातकों के लिए मंगल का यह गोचर प्रतिकूल फल दर्शा रहा है। जिसके कारण आपको जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में कई प्रकार के नकारात्मक परिणाम मिलने के योग बनेंगे। खासतौर से कार्यक्षेत्र पर नौकरीपेशा जातकों को इस दौरान अपने कार्य में सही संतुलन बनाए रखने की हिदायत दी जाती है। आर्थिक पक्ष के लिहाज से आपके खर्चों में वृद्धि होगी, जिससे आपको मानसिक तनाव से भी दो-चार होना पड़ सकता है। यदि आप कारोबारी हैं तो आपके लिए समय थोड़ा बेहतर दिखाई दे रहा है।

तुला
तुला राशि के जातक मंगल देव के गोचर के दौरान अपने काम के प्रति खुद को केंद्रित रखने में सफल रहेंगे। जिससे कार्यक्षेत्र पर उनको उत्तम परिणाम मिलने की संभावना बढ़ेगी। इस दौरान खासतौर से नौकरीपेशा जातकों को भाग्य के सहारे ना बैठते हुए केवल और केवल मेहनत करने की ही सलाह दी जाती है। क्योंकि तभी आप भविष्य में उससे अच्छे अंक अर्जित करने में सफल रहेंगे। यदि आप व्यापार करते हैं तो आपको बीच-बीच में कुछ प्रतिकूल स्थितियों से दो-चार होना पड़ सकता है। आर्थिक पक्ष के लिहाज से समय सामान्य ही रहेगा।

वृश्चिक
वृश्चिक राशि के जातक मंगल देव के गोचर के दौरान शारीरिक और मानसिक रूप से तनावग्रस्त हो सकते हैं। क्योंकि इस दौरान आपको भाग्य का साथ नहीं मिलेगा, जिससे आप इच्छा अनुसार फल प्राप्त करने में असफल रहेंगे। पारिवारिक जीवन में पिता को कुछ स्वास्थ्य कष्ट संभव है, जिससे इसका नकारात्मक प्रभाव परिवार की शांति को भंग करेगा. ऐसे में उनकी सही देखभाल करते हुए उनके खान-पान पर ध्यान दें।

धनु
धनु राशि के जातकों को मंगल देव के इस गोचर के दौरान विशेष सावधान रहने की आवश्यकता होगी। क्योंकि इस दौरान यूं तो आप सही गलत की पहचान करने में सक्षम होंगे, परंतु बावजूद इसके कार्यस्थल पर आपके विरोधी आपके खिलाफ षड्यंत्र रचते हुए आपको हानि पहुंचाने के लिए तत्पर रहेंगे। आर्थिक जीवन में भी अतिरिक्त धन खर्च, आपकी परेशानियों का कारण बनेगा। प्रेम संबंधों के लिहाज से यह समय आपके और साथी के बीच कुछ समस्याओं की स्थिति उत्पन्न करेगा।

मकर
आपका अपने जीवनसाथी से इस दौरान कोई बड़ा विवाद या झगड़ा होने के योग बनेंगे। साथ ही वो व्यापारी जातक जो पार्टनरशिप में व्यापार करते हैं, उन्हें भी अपने पार्टनर के साथ कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इस समय अवधि के दौरान खुद को शांत रखकर ही किसी भी निर्णय पर पहुंचें। वो जातक जो विवाह योग्य हैं, उन्हें इस दौरान विवाह में कुछ कठिनाइयां आएंगी, जिससे उनका मन अशांत हो सकता है। आर्थिक पक्ष के लिहाज से भी आप कुछ चिंतित दिखाई देंगे।

कुंभ
कुंभ राशि के जातकों के लिए मंगल का यह गोचर मिश्रित परिणाम लेकर आएगा। आपको आर्थिक जीवन में भी अपने अनावश्यक खर्चों से बचने की सलाह दी जाती है। अन्यथा आप पर किसी प्रकार का अतिरिक्त ऋण या कर्ज का बोझ बढ़ने से आपको समस्या संभव है। यदि आप शादीशुदा हैं तो यह समय आपके लिए थोड़ा तनावपूर्ण रहेगा। ऐसे में जितना संभव हो जीवनसाथी के साथ उचित संवाद जारी रखें।

मीन
मीन राशि वाले जातकों के लिए मंगल देव का यह गोचर खासतौर से आपको अपने बच्चों और संतान के प्रति सावधानी बरतने की ओर इशारा कर रहा है। आपके कार्यक्षेत्र को देखें तो इस दौरान आपको अपने करियर में कई रुकावटों से दो-चार होना पड़ेगा। जिससे कार्यस्थल पर आपका दूसरे कर्मियों के साथ टकराव का सामना भी हो सकता है। इस दौरान आपके खर्चों में भी वृद्धि आपको परेशान करेगी। ऐसे में किसी भी तरह का बड़ा निर्णय लेते समय विशेष सोच-समझ कर चलना ही आपके लिए एकमात्र विकल्प रहेगा।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश कुमार शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in