Angarak yog

बन रहा अंगारक योग, जानें राशियों और भारत पर क्या पड़ेगा प्रभाव Angarak yog

Angarak yog : वैदिक ज्योतिष अनुसार जब भी कोई ग्रह राशि परिवर्तन (Angarak yog) या किसी अन्य ग्रह के साथ युति बनाता है। तो इसका सीधा (Angarak yog) प्रभाव मानव जीवन और पृथ्वी पर पड़ता है। आपको बता दें कि 27 जून 2022 को राहु और मंगल की युति से अंगारक योग (Angarak yog) का निर्माण होने जा रहा है यह योग ज्योतिष की दृष्टि से अशुभ फल कारक होता है। भारत की कुंडली को ज्यादातर वृष लग्न से देखा जाता है उसी आधार पर यह युति भारत की कुंडली में बारहवें भाव में बनेगी जोकि देश के लिए हितकर नहीं है। यह युति 27 जून से 10 अगस्त लगभग 8:41PM तक रहेगी।

Angarak yog 2022

Angarak yog
Angarak yog

साथ ही 14 जुलाई तक शनि की इन दोनों ग्रहों पर दृष्टि रहेगी । वहीं 16 जुलाई से 4 अगस्त तक मंगल और राहु भरणी नक्षत्र में होंगे और 1 अगस्त को दोनों 24 डिग्री के होंगे। जिससे इस योग का प्रभाव सभी राशियों और भारत पर पड़ेगा।

अच्‍छे दिन आने से पहले मिलने लगते हैं ऐसे संकेत Good Time Sign

सावन में लगायें ये एक पौधा, पूरी जिंदगी रहेंगे अमीर! Sawan Month 2022

भारत पर अंगारक योग का प्रभाव:

1- अंगारक योग के निर्माण से महंगाई बढ़ सकती है।

2- वहीं इस योग के निर्माण से लोगों को खून से संबंधित बीमारी से सावधान रहने की जरूरत है। साथ ही हाई बीपी वाले भी अपनी सेहत का खास ख्याल रखें।

3- आगजनी की बड़ी घटनाएं हो सकती है। जिनमें (बिजली, रेलवे, पुलिस, आर्मी, एयरफोर्स, एयरलाइंस) डिपार्टमेंट को सावधानी बरतने की जरूरत है।

Angarak yog
Angarak yog

4- इस दौरान भूकंप आने की भी संभावनाएं हैं, जिसका केंद्र दक्षिण पूर्व हो सकता है।

5- रूस यूक्रेन का युद्ध कई और देशों को अपनी चपेट में ले सकता है इस युद्ध में बड़े पृथ्वी को दहला देने वाले हथियार का इस्तेमाल हो सकता है।

मां लक्ष्मी की बरसेगी कृपा, सुबह उठते ही करें ये 4 काम Morning Tips

आज से इन राशि वालों पर होगी पैसों की बरसात! Mangal 2022

अंगारक योग का राशियों पर प्रभाव:
वैदिक ज्योतिष अनुसार मंगल और राहु एक साथ वृषभ राशि में विराजमान हों तब इसका सबसे ज्यादा असर कर्क, वृश्चिक और धनु पर देखने को मिलेका। इन तीन राशियों पर अंगारक योग के कारण मंगल की दृष्टि रहेगी। इसलिए इन तीन राशियों को 52 दिन तक सतर्क रहना चाहिए। क्योंकि मंगल 14 अप्रैल को वृषभ राशि से निकलकर मिथुन राशि में गोचर कर जाएंगे, जिससे यह योग भी खत्म हो जाएगा। अन्य राशियों के लिए सामान्य फल कारक रहेगा।

Angarak yog
Angarak yog

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार  और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।