aaaaa
सामुद्रिक शास्त्र

महिला के शारीरिक लक्षण से जानिए उसका स्वभाव

जब हम किसी भी युवती या महिला की बात करते हैं तो सबसे पहले हमारा ध्यान उस युवती या महिला के शारीरिक बनावट पर जाती है। कुछ युवक जो अपनी शादी के लिए किसी युवती की तलाश कर रहे हैं तो वह युवक भी यही सोचता है कि जिस युवती को वह देखने के लिए जा रहा है या पसंद करता है, क्या वह युवती उसके लायक भी है या नहीं।

राशि से जाने महिला की पर्सनलिटी, क्या वस्तु पास रखने से मिलती है उन्नति

इस आर्टिकल में हम महिला के शारीरिक लक्षण की बात करेंगे। आप जान सकेंगे कि महिला के शरीर की बनावट से कैसे उसके स्वभाव के बारे में पता किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं…

मुस्कान के अनुसार

हस्ते समय जिस महिला का मुहँ कम खुलता है और हँसते मुस्कुराते समय दांत दिखाई नही देते है ऐसी महिलाये बहुत शुभ मानी जाति है I और ऐसे हसीं को भी बहुत अच्छा माना जाता है I ऐसी महिलाओ का परिवार भी सुख समृद्धि वाला होता है I और अगर किसी महिला का हँसते मुस्कुराते समय हाथ ऊपर नीचे होते हो और आँखे बंद हो जाये तो ऐसी महिला घर परिवार के लिए शुभ नहीं मानी जाति है I और विश्वास के योग्य नही होती है I

होंठ के अनुसार

जिस महिला का नीचे का होंठ कमल की पत्ती के समान होता है लालिमा लिए हुए होता है और एक विशेष आभा लिए हुए होता है तो वाह स्त्री रानी के सामान सोच और व्यवहार वाली होती है I लोगो के आकर्षण का पात्र होती है I उनकी तरफ लोग जल्दी आकर्षित होते है I और अगर निचले होंठ के मध्य एक लकीर हो तो ऐसी स्त्री समस्त सुखो का भोग करने वाली होती है I इसके विपरीत अगर किसी महिला का निचला होंठ रूखा, निचे को लटका हुआ, और एक अजीब सी आकृति लिए होता हिया तो ऐसी स्त्री कलेश करने वाली , मन में शंका रखने वाली, और पति सुख में कमी वाली होती है I

भोंहो के अनुसार

जिस स्त्री की भोंहे गोल आकार लिए हुए हो, धनुष के आकार की हो, बिलकुल काली रंग की हो, आपस में मिली हुई न हो, मतलब की दोनों भोंहो के बीच खाली स्थान हो और भोंहो के बाल मुलायम हो तो ऐसी महिला समाज में मान सम्मान पाने वाली, अपना खुद का स्थान बनाने वाली, सुख समृद्धि वाली, परिवार को संभल के चलने वाली होती है I

और अगर किसी महिला की भोंहे आपस में मिली हुई सांय से ज्यादा बड़ी या चौड़ी टेड़ी मेडी होती है ऐसी महिलाओ को जीवंन में बहुत संघर्ष करना पड़ता है विशेषकर पारिवारिक मामले में I परिवार में अशांति का माहोल रहता है I

अपनी समस्याओ के समाधान के लिए लॉगइन करे

maheshshivapress
महेश कुमार शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *