sphitik ganeshavoice.in धन, संपत्ति, रूप, वीर्य और यश वृद्धि करती है यह चमत्कारी माला : sphatik
चमत्कारी उपाय रत्न विज्ञान राशिफल

धन, संपत्ति, रूप, वीर्य और यश वृद्धि करती है यह चमत्कारी माला : sphatik

sphatik : स्फटिक की माला से मंत्र जाप भी किया जाता है। बहुत से लोग स्फटिक की माला या अंगुठी पहनते हैं। स्फटिक को नग के बजाय माला के रूप में पहना जाता है। इसका शिवलिंग भी बनाया जाता है।

sphitik ganeshavoice.in धन, संपत्ति, रूप, वीर्य और यश वृद्धि करती है यह चमत्कारी माला : sphatik

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

क्या होता है स्फटिक?
स्फटिक को अंग्रेज़ी में रॉक क्रिस्टल, संस्कृत में सितोपल, शिवप्रिय, कांचमणि और फिटक आदि कहते हैं। कहते हैं कि यह सिलिकॉन और ऑक्सीज़न के एटम्स के मिलने से बनता है। यह बर्फ के समान पारदर्शी और सफेद होता है। दरअसल, स्फटिक एक रंगहीन, पारदर्शी, निर्मल पत्थर होता है जो कि सफेद रंग का चमकदार दिखाई देता है।

चमत्कारी होती है हवन की राख, कभी खत्म नहीं होती घर की बरकत

स्फटिक धारण करने के फायदे

1. स्फटिक की माला पहनने से किसी भी प्रकार का भय और घबराहट नहीं रहती है। मन में सुख, शांति और धैर्य बना रहता है।
2. ज्योतिष के अनुसार स्फटिक धारण करने से धन, संपत्ति, रूप, बल, वीर्य और यश प्राप्त होता है।
3. इसकी माला से किसी मंत्र का जप करने से वह मंत्र शीघ्र ही सिद्ध हो जाता है।

दिवाली और अन्नकूट के पर्व पर लगा ग्रहण, नहीं मनाया जा सकेगा यह खास पर्व! 

4. इसकी भस्म से ज्वर, पित्त-विकार, निर्बलता तथा रक्त विकार जैसी व्याधियां दूर होती है।
5. स्फटिक की माला को भगवती लक्ष्मी का रूप माना जाता है। स्फटिक की माला धारण करने से शुक्र ग्रह दोष दूर होता है।
6. सोमवार को स्फटिक माला धारण करने से मन में पूर्णत: शांति की अनुभूति होती है एवं सिरदर्द नहीं होता।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in