shani1 1 ganeshavoice.in अब किस राशि में विराजमान रहेंगे शनिदेव, इन राशियों पर रहेगी नजर Shani Rashi Parivartan 2022
ग्रह गोचर राशिफल

अब किस राशि में विराजमान रहेंगे शनिदेव, इन राशियों पर रहेगी नजर Shani Rashi Parivartan 2022

Shani Rashi Parivartan 2022: ज्योतिष शास्त्र में शनि का विशेष महत्व माना जाता है। ये मकर और कुंभ राशि का स्वामी ग्रह है। तुला शनि की उच्च राशि है और मेष नीच। शनि एक राशि में ढाई वर्ष तक विराजमान रहता है। नौ ग्रहों में इसकी गति सबसे धीमी है। अगर कुंडली में शनि मजबूत स्थिति में हो तो व्यक्ति खूब तरक्की करता है और अगर इसकी स्थिति कमजोर है तो व्यक्ति को कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। जानिए 2022 में शनि कब बदलेंगे राशि?

shani1 1 ganeshavoice.in अब किस राशि में विराजमान रहेंगे शनिदेव, इन राशियों पर रहेगी नजर Shani Rashi Parivartan 2022

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

2022 में शनि का राशि परिवर्तन?
शनि 29 अप्रैल 2022 में कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे। शनि जब भी अपनी राशि बदलते हैं तो 2 दो राशि वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाती है तो एक राशि पर शनि की साढ़े साती। शनि एक साथ 5 राशियों को प्रभावित करते हैं। शनि के कुंभ राशि में गोचर से मकर, कुंभ और मीन वालों पर शनि साढ़े साती रहेगी तो वहीं कर्क और वृश्चिक वालों पर शनि ढैय्या। इस दौरान धनु वालों को शनि साढ़े साती से मुक्ति मिल जायेगी तो वहीं मिथुन और तुला जातकों को शनि ढैय्या से।

बहुत ही मजेदार होते हैं इन राशि के लोग, जानें क्या कहती है आपकी राशि 

2022 में शनि होंगे वक्री
12 जुलाई 2022 में शनि वक्री होकर मकर राशि में प्रवेश करेंगे और 17 जनवरी 2023 तक इसी राशि में रहेंगे। इस अवधि में धनु, मकर और कुंभ वालों पर शनि साढ़े साती रहेगी तो वहीं मिथुन और तुला वालों पर शनि ढैय्या। इस दौरान मीन, कर्क और वृश्चिक वालों को शनि की दशा से कुछ समय के लिए मुक्ति मिल जायेगी। 17 जनवरी 2023 में शनि मार्गी होकर कुंभ राशि में वापस आ जायेंगे।

सफलता चूमेगी आपके कदम, बस करें ये सरल उपाय success tips

शनि को मजबूत करने के उपाय
शनि देव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार के दिन सरसों के तेल, उड़द दाल, लोहा, तिल, काले रंग के कपड़े इत्यादि चीजों का दान कर सकते हैं। शनिवार के दिन शनि मंदिर जरूर जाएं और वहां जाकर शनि देव की प्रतिमा पर सरसों का तेल चढ़ाएं। शनि के प्रकोप से बचने के लिए हनुमान जी की पूजा भी विशेष मानी जाती है। हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ करने से शनि परेशान नहीं करते।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in