1 2017061711515325 1
चमत्कारी उपाय राशिफल वनस्पति ज्योतिष

पीपल की पूजा का महाउपाय जिसे करते ही पूरी होती है सभी मनोकामना : Peepal ki Puja

Peepal ki Puja : सनातन परंपरा में पेड़ों को ईश्वर का दूसरा रूप माना जाता है। मान्यता है कि हरा सोना कहलाने वाले इन दिव्य वृक्षों पर देवी-देवताओं का हमेशा वास बना रहता है। हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को बहुत ही ज्यादा पवित्र और मंगलकारी माना गया है।

1 2017061711515325 1

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

मान्यता है कि इसमें देवताओं का वास रहता है। भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में स्वयं कहा है कि “मैं वृक्षों में पीपल हूं.” वैसे मान्यता है कि पीपल के जड़ में ब्रह्मा जी, तने में भगवान विष्णु और सबसे ऊपरी भाग में शिव का वास होता है। न सिर्फ धार्मिक दृष्टि से बल्कि वनस्पति विज्ञान और आयुर्वेद के अनुसार भी पीपल का पेड़ कई तरह से फायदेमंद माना गया है।

आश्चर्यजनक सफलता दिलाते हैं साबुत चावल, जरुर आजमाएं ये उपाय

इस दिन न चढ़ाएं पीपल पर जल
शास्त्रों के मुताबिक शनिवार को पीपल के वृक्ष में लक्ष्मी का वास होता है। इस दिन पीपल में जल चढ़ाना बेहद शुभ माना गया है। गुरुवार एवं शनिवार के दिन जहां पीपल पर जल चढ़ाने का विशेष लाभ माना गया है, वहीं रविवार के दिन पीपल में जल चढ़ाने को लेकर मनाही है। मान्यता है कि इस दिन पीपल में जल अर्पण करने से धन की हानि होती है। साथ ही हमेशा पैसों की तंगी बनी रहती है। इसी तरह पीपल के पेड़ को काटना भी अत्यंत अशुभ माना गया है। ऐसा करने पर वंश वृद्धि में बाधा आती है।

मां लक्ष्मी की कृपा से बरसेगा धन, घर में आएगी खुशहाली, करें ये सरल उपाय 

पीपल की पूजा से पाएं शनि दोष से मुक्ति
पीपल के पेड़ को दीर्घायु प्रदान करने वाला माना जाता है। शनि के दोष को दूर करने के लिए पीपल के पेड़ की विशेष रूप से रूप से पूजा की जाती है। मान्यता है कि शनिवार के दिन पीपल के नीचे सरसों के तेल का दिया जलाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

पुरुष-स्त्री ही नहीं, पैसों को भी आकर्षित करती है ‘काली गुंजा की माला’ 

पीपल की पूजा से जुड़े उपाय
– मान्यता है कि पवित्र पीपल के नीचे हनुमत साधना करने पर पवनपुत्र हनुमान जी शीघ्र प्रसन्न होते हैं और अपने साधक को सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं।
– पीपल के पेड़ के नीचे शिवलिंग स्थापित करके प्रतिदिन पूजा करने पर अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है और साधक को सुख-समृद्धि का आशीर्वाद मिलता है।
– यदि कुंडली में शनि अशुभ फल दे रहे हों या फिर कोई व्यक्ति शनि की ढैय्या या साढ़ेसाती से परेशान हो तो उसे हर शनिवार को पीपल के वृक्ष पर जल चढ़ाकर सात बार परिक्रमा करनी चाहिए। साथ ही शाम के समय सरसों के तेल का दिया जलाना चाहिए।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in