FDF 1
घरेलू नुस्खे राशिफल

रात में सोते वक्त सड़पते हैं पैर foot, जानिए 9 कारण और करें ये उपाय

foot : कई लोग जब रात में सोते हैं तो उनके पैर सड़पते रहते हैं या दर्द करते रहते हैं। खासकर पिंडलियां दर्द करती रहती है। ऐसा कई कारणों से होता है। कारणों का पता चलने पर ही हम उसका निदान कर सकते हैं। आओ जानते हैं कि आखिर क्यों सडपते हैं पैर।

FDF 1

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

कारण : अकसर महिलाओं और पुरुषों में टांगों का दर्द देखा जाता है। महिलाओं में इस दर्द का मुख्य कारण है बहुत देर तक 1.रसोई में काम करना, 2.कपड़े धोना, 3.मधुमेह, 4.हाई हील की चप्पलें पहनना और 5.अधिक चलना। वहीं पुरुषों में इसके मुख्य कारण है 6.कुर्सी में पैर लटकाकर बैठना, 7.अधिक गाड़ी चलाना, 8.ज्यादा खड़ा रहना, 9.सख्त तलवों के जूते पहना आदि।

क्या है निपाह वायरस ? जानिए लक्षण और उपचार : Health Tips

नोट : यदि डायबिटीज को छोड़कर और कोई कारण हैं तो आप यहां बताए गए योग करके दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। उक्त तकलीफ वाले मरीजों के लिए योगासन के साथ ही दर्द से छुटकारा पाने के लिए जीवन शैली में आवश्यक बदलाव लाना भी जरूरी है। ऐसे मरीजों के लिए प्रस्तुत हैं मात्र तीन आसन। उक्त आसनों को नियमित करने से लाभ मिलेगा।

1. दंडासन- दीवार से पीठ लगाकर बैठ जाएं, कूल्हे पूरी तरह से दीवार से स्पर्श करें। घुटने व टांगें सीधे करके बैठ जाएं। योग बेल्ट की मदद से पांव के पंजे अपनी ओर खींचें। इस आसन को दस से पंद्रह मिनट करें, बीच में थकान महसूस होने पर पांव ढीले छोड़ें।

joint pain जोड़ों का दर्द हो जाएगा छुमंतर, अपनाएं ये घरेलु नुस्खे

2. पादांगुठासन- पलंग या जमीन पर लेट कर दोनों टांगें सीधी कर लें। दोनों टांगें अपनी ओर खींचें। योग बेल्ट की मदद से टांग को सीधा ऊपर उठाएं। घुटना सीधा व पांव का पंजा अपनी ओर खींच कर रखें। आसन को लगभग एक से तीन मिनट के लिए रोकें। आसन को करते समय सांस न रोकें।

यदि आप जिम जा रहे हैं तो रहिए सचेत, ये हैं 10 बड़ी सावधानियां : Gym Tips

3. पद्मासन- यह आसन बैठकर किया जाता है। पहले पैर लंबे कर आपस में सटा लें फिर बाएं हाथ से दाएं पैर का अंगूठा पकड़कर दाहिने पैर को बाएं पैर की जंघा पर रख दें। फिर बाएं पैर को ऊपर की दाहिनी जंघा पर स्थापित करें। ‍तब दोनों हाथ की कलाइयां घुटनों पर सीधी रखें। दोनों हाथ अंगूठे के पास वाली अंगुली अंगूठे से मिलाएं, बाकी तीन अंगुलियां सीधी रखें। आंखें बंद तथा रीढ़ की हड्डी सीधी रखें। गर्दन सीधी तथा नासाग्र दृष्टि बनाए रखें अथवा भृकुटी पर चित्त को एकाग्र करें। यह समस्त दुर्भावनाओं का विनाशक पद्मासन कहा जाता है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in