puja
एस्ट्रो न्यूज ज्योतिष जानकारी धर्म दर्शन

क्या कहते हैं पूजा (Puja) करते समय मिलने वाले संकेत ?

(Puja) जब हम पूजन करते है या पूजन में होते है तो हमारी श्रद्धा और भाव कारण हम ईश्वर से जुड़ते है। पूजा करते समय हमारे शरीर के चारो तरफ एक विशेष प्रकार की उर्जा बनती है जिसको हम और कहते है।  इस के द्वारा हमारा ईश्वर से जुडाव होता है  और इसी जुड़ाव के कारण पूजन के समय हमे कुछ संकेत मिलते है या महसूस होते है, लेकिन यह तभी मुमकिन होता है जो हम सच्चे दिल से पूजा पाठ करते है।

puja

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

शास्त्रों के अनुसार पूजा करते समय अगर हमारी आँखों से आंसू गिरने लगते है तो इसका मलतब है की हमारे अन्दर के नकारात्मक उर्जा बाहर जा रही है। बुरे और ख़राब विचार ख़त्म हो रहे है। नकारात्मक उर्जा का ह्रास हो रहा है। हमारा मन और आत्मा शुद्धता की और जा रही है या हमारा मन और आत्मा शुद्ध हो रही है।

पूजा करते समय जो दीपक जलाया जाता है उस दीपक की ज्योति अगर अचानक से ही सामान्य से ज्यादा ऊँची हो जाये या बढ़ जाये या ऊपर की और उठने लगे तो ऐसा माना है की ईश्वर तक आपकी मन की बात पहुच रही है और ईश्वर आपसे प्रसन्न है।

पूजा करते समय अगरबत्ती या धूपबत्ती जलने पर उनसे निकलने वाल धुआ अगर  मंदिर की तरफ जाने लगे या ईश्वर की मूर्ति या तस्वीर की तरफ जाने लगे, उनको स्पर्श करने लगे या किसी भी प्रकार की आकृति जैसे ओम या कोई मूर्ति बनने का अहसास होने लगे तो भी ईश्वर की प्रसन्नता दिखाई देती है। उनका आशीर्वाद हमे मिल रहा है ऐसा मानना चाहिए।

क्या है आपके मन में चल रहे प्रश्नों के जवाब, जाने Prahan Jyotish Astrology ?

पूजा या आरती के समय यदि कोई मेहमान आपके घर आता है तो इसे ईश्वरीय कृपा मान कर उनका उचित सत्कार करना चाहिए। यथा शक्ति उनका आदर सम्मान करना चाहिए। ऐसे समय पर आये हुए मेहमान का कभी तिरस्कार नहीं करना चाहिए इससे भगवान् रुष्ट हो जाते है और पूजन का पूर्ण फल नही मिल पाता है।

Millionaire करोड़पति बनना है तो घर में लगाये ये पौधे

पूजा-पाठ करते समय यदि आपके घर पर कोई व्यक्ति आपके लिए कोई उपहार, अनाज या धन यस आपकी पसंद की कोई वास्तु लाया है आपको समझ लेना चाहिए कि इसमें परमात्मा की आप पर विशेष कृपा हो रही है और आगे भी होती रहेगी , ईश्वर अपना आशीर्वाद आप पर बनाए हुए हैं।

कहा जाता है की जो भी सच्चे और साफ़ मन से ईश्वर की पूजा अर्चना भक्ति करता है तो तो वह हमेशा ईश्वर द्वारा स्वीकार्य होती है। उस पूजन को ईश्वर हमेशा स्वीकार करते है। लेकिन यदि पूजन के समय अगर बार बार जम्हाई आने लगे तो इसका मतलब है की पूजा करने वाले वाले व्यक्ति का मन पूजन में पूरी तरह से नहीं है। वह सिर्फ शारीरिक रूप से पूजन में उपस्थित है लेकिन मानसिक रूप से वह पूजन में नहीं है। उसके मन में कई तरफ की विचारधाराए पैदा हो रही है। उसके मन में यही सवाल अक्सर होते है की जो हम ये पूजन पाठ कर रहे है उनका कुछ फल भी मिलेगा या नहीं।

अंक यंत्र पर रखिए उंगूली और जानिए अपनी समस्या का समाधान

पूजा करते समय ईश्वर को अर्पित किया गया या चढ़ाया गया फूल अचानक से आपकी तरफ आ गिरता है तो इसका अर्थ है कि परमात्मा आपकी इच्छा जरूर पूरी करेंगे और उनका आशीर्वाद आप के ऊपर बना हुआ है आप अपने जीवन में जो कुछ भी कर रहे हैं यह बात उस बात का संकेत है कि वह आपके भविष्य के लिए पूरी तरह से अच्छा है और आपको निरंतर प्रयास करना चाहिए।

पूजा करते समय इन सभी संकेतों का मिलने का मतलब यह है कि ईश्वर जोकि एक दिव्य शक्ति है वो आपके साथ हैं और वह आपसे बेहद खुश हैं और वह आपको कुछ संदेश देना चाह रहे हैं। और उनका आशीर्वाद आप पर बना हुआ है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश कुमार शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in