Sawan 2022

सावन के महीने में भूलकर भी न करें ये 5 काम Sawan Month Rules

Sawan Month Rules: इस साल सावन का महीना (Sawan Month Rules) 14 जुलाई से शुरू हो रहा है और यह 12 अगस्त तक रहेगा। हिंदू धर्म में इस महीने को भगवान शिव को समर्पित माना जाता है। मान्यता है कि जो श्रद्धालु इस महीने सच्चे मन से भोले शंकर (Sawan Month Rules) की आराधना करते हैं, उन्हें महादेव मनचाहा वरदान देते हैं। वैसे तो हर सोमवार को भगवान शंकर के शिवलिंग पर जल चढ़ाने से पुण्य मिलता है लेकिन अगर सावन के सोमवारों पर शिवलिंग को जल अर्पित किया जाए तो भोलेनाथ प्रसन्न होकर अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं।

Sawan Month Rules

Sawan Month Rules
Sawan Month Rules

भोले की उपासना वाला महीना है सावन
भारतीय धर्म शास्त्रों के मुताबिक सावन का पूरा महीना (Sawan 2022) भोलेनाथ की आराधना वाला माना जाता है। इस महीने कोई श्रद्धालु हरिद्वार से कांवड़ लेकर आता है तो कोई भोलेनाथ के विभिन्न धामों की यात्रा करके पुण्य की प्राप्ति करता है। जो जातक समयाभाव या परेशानियों की वजह से कईं तीर्थांटन पर नहीं जा पाते, वे सावन के महीने में भगवान शंकर के शिवलिंग पर जल चढ़ाकर और मन ही मन उनकी उपासना करके अपने जीवन का उद्धार करते हैं।

हिंदू धर्म शास्त्रों के मुताबिक सावन कई नियमों को मानने वाला होता है. कई सारे ऐसे काम हैं, जो इस महीने भूलकर भी नहीं करने चाहिए। ऐसा करने से भगवान शिव अप्रसन्न हो जाते हैं और आपके घर-परिवार में विपदाओं का दौर शुरू हो जाता है। आइए जानते हैं कि वे कौन से कार्य हैं, जो हमें सावन के महीने में भूलकर भी नहीं करने चाहिए।

इस दिन जन्में लोग ग्लैमर में बनाते हैं अपनी अलग पहचान Dashing Personality

Sawan 2022: जमकर बरसेगी भोले की कृपा, सावन में करें ये काम

सावन के महीने में न करें ये काम
सनातन धर्म की मान्यताओं के मुताबिक सावन के महीने में शिव मंदिर में जाकर नियमित रूप से पूजा अर्चना करनी चाहिए। ऐसा करने भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और जातकों को अपना आशीर्वाद देते हैं। हालांकि इस बात का खास ध्यान रखें कि आपकी पूजा की थाली में सिंदूर या हल्दी नहीं होनी चाहिए। दरअसल भगवान शिव महायोगी हैं और वे साधारण रहना पसंद करते हैं। जबकि हल्दी-सिंदूर सजावट की चीजें मानी जाती हैं। इसके बजाय आप पूजा की थाली में भांग, बेलपत्र और धतूरे की पत्ते रखकर ले जाएं और शिवलिंग पर अर्पित कर दें।

Sawan Month Rules
Sawan Month Rules

हिंदुओं में सावन के महीने को बहुत पवित्र माना जाता है। इस महीने सभी तरह के जीवों पर दया करने का विशेष महत्व होता है। अगर आप मांसाहारी हैं तो सावन में मीट भूलकर भी न खाएं और न ही किसी जीव से मारपीट या हत्या करें। ऐसा करने से आप पाप के भागी बन जाते हैं और भगवान शंकर आपसे रुष्ट हो जाते हैं।

बैंगन, दही और कढ़ी से करें परहेज
सावन के महीने में वैसे तो आप मौसम के हिसाब से कोई भी चीज का सकते हैं, लेकिन बैंगन की सब्जी को खाना वर्जित माना जाता है। इसकी एक अन्य वजह ये भी है कि सावन का महीना बरसात का होता है और बरसात में बैंगन समेत कई सब्जियों के अंदर कीड़ा लग जाता है। इसलिए इसे खाने से बचना चाहिए. इसके साथ ही सावन में कढ़ी, या दही से बनी चीजों का सेवन भी नहीं करना चाहिए।

Money Astro Remedies: सोने की तरह किस्मत चमकाएगा एक रूपये का सिक्का

महिला के होंठ भी बयां करतीं उसकी पर्सनालिटी Womans Lips

हिंदू धर्म शास्त्रों में सावन के महीने (Sawan 2022) को योग ध्यान करने और भगवान शिव के साथ खुद को आत्मसात करने की कोशिश करने वाला माना जाता है। इसलिए आप इस महीने खुद पर संयम रखें और अनावश्यक क्रोध से बचें। दूसरों को क्षमा करने की भावना रखें और किसी का अपमान न करें। दूसरों से उलझने से मानसिक शांति भंग होती है, जिसका नुकसान खुद आपको ही उठाना पड़ता है।

Sawan Month Rules
Sawan Month Rules

दूध पीने से बचें
सावन (Sawan 2022) में रोजाना शिवलिंग पर दूध से जलाभिषेक करना शुभ माना जाता है। माना जाता है कि ऐसा करने से भगवान भोलेशंकर प्रसन्न होते हैं। हालांकि इसके साथ ही यह भी बंदिश होती है कि जातकों को सावन मास में दूध नहीं पीना चाहिए। माना जाता है कि अगर आप दूध पी रहे हैं तो भगवान शिव के हिस्से का दूध आपको मिल रहा है। ऐसा करने से वे नाराज हो जाते हैं।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार  और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।