Gajkesari Yog

इस राशि की कुंडली में बन रहा है ‘गजकेसरी योग’, लोगों को लाभ Gajkesari Yog

Gajkesari Yog In Pisces: ज्योतिष के अनुसार हर दिन ग्रह और नक्षत्र की चाल (Gajkesari Yog) शुभ और अशुभ फल प्रदान करती हैं. इस बार हिंदू पंचांग के अनुसार 15 अगस्त के दिन शुभ संयोग बन रहे हैं. 15 अगस्त, सोमवार के दिन मीन राशि में गजकेसरी योग (Gajkesari Yog) का निर्माण हो रहा है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गजकेसरी योग को बहुत शुभ माना गया है. साथ ही, इस दिन भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि भी है. हर माह की चतुर्थी तिथि गणेश जी को समर्पित होती है.

Gajkesari Yog In Pisces

Gajkesari Yog
Gajkesari Yog

इस बार संकष्टी चतुर्थी 15 अगस्त की पड़ रही है और साथ ही मीन राशि में अतिशुभ योग का निर्माण हो रहा है. धार्मिक दृष्टि से 15 अगस्त का दिन बेहद खास है. पंचाग में जानते हैं क्या है इस दिन में खास और गजकेसरी योग का महत्व और फायदों के बारे में.

इन शुभ योगों के साथ मानई जाएगी संकष्टी चतुर्थी

भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि 15 अगस्त के दिन है. इस दिन गणपति की कृपा पाने के लिए भक्त पूजा-पाठ और व्रत आदि रखते हैं. ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस दिन उत्तरा भाद्रपद नक्षत्र रहेगा. पंचाग के अनुसार इस दिन धृति योग रात 11 बजकर 22 मिनट तक रहेगा.

घर की खिड़कियों से जुड़ी है आपकी किस्मत, कर लें ये 6 उपाय; देखें चमत्कार Windows Vastu Tips

Gajkesari Yog
Gajkesari Yog

इस राशि के लिए होगा लाभकारी

ज्योतिषीयों के अनुसार 15 अगस्त, सोमवार के दिन मीन राशि के जातकों के लिए शुभ फलदायी रहने वाला है. इस दिन मीन राशि में गजकेसरी योग बना हुआ है. इस दौरान मीन राशि वालों को विशेष फलों की प्राप्ति होने की पूरी संभावना नजर आ रही है. बता दें कि इस दौरान मीन राशि में देवगुरु बृहस्पति ग्रह विराजमान हैं. सोमावर, 15 अगस्त के दिन चंद्रमा के गोचर से इस राशि में गजकेसरी का योग बन रहा है. देवगुरु बृहस्पति और चंद्रमा की युति से गजकेसरी योग का निर्माण होता है. ज्योतिष में इसे शुभ माना गया है.

गजकेसरी योग का महत्व

धार्मिक ग्रंथों में कुछ अतिशुभ योगों का वर्णन मिलता है, उसमें से एक गजकेसरी योग भी शामिल है. गज का अर्थ है हाथी और केसरी का अर्थ है स्वर्ण. यहां गज से मतलब शक्ति से है और स्वर्ण का मतलब समृद्धि से बताया गया है. जब कुंडली में इस योग का निर्माण होता है तो शक्ति और समृद्धि में वृद्धि होती है.

Mangal Gochar 2022: ये 3 राशि वाले हो जाएं सतर्क! 3 महीने होंगे भारी

Gajkesari Yog
Gajkesari Yog

गणपति का मिलेगा आशीर्वाद

15 अगस्त को चंद्रमा और देवगुरु बृहस्पति को साथ होने से गजकेसरी योग का निर्माण हो रहा है. साथ ही, इस दिन संकष्टी चतुर्थी होने के कारण गणपति का भी आशर्वाद मिलेगा. गणेश जी को समृद्धि और बुद्धि का प्रतीक माना जाता है. एक साथ इस दिन कई संयोग होने के कारण इस दिन का धार्मिक महत्व और अधिक बढ़ गया है.

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार  और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।