Astro Upay

संकष्टी चतुर्थी कब है, जानें पूजा विधि और पौराणिक कथा Sankashti Chaturthi 2022

Sankashti Chaturthi 2022: आगामी 12 नवंबर 2022 को संकष्टी चतुर्थी पड़ रही है। (Sankashti Chaturthi 2022) इस दिन भगवान गणेश की पूजा की जाती है। मान्यता के अनुसार इस दिन नियम पूर्वक दुखों के हरता भगवान गणेश की (Sankashti Chaturthi 2022) पूजा करने से सभी मनोकानाएं पूरी हो जाती हैं। संकट काटने वाली चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है।

पूर्णिमा के बाद आने वाली चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी और अमावस्या के बाद आने वाली चतुर्थी को विनायक चुतुर्थी कहा जाता है। दोनों ही चतुर्थी को भगवान गणेश की पूजा की जाती है।

Sankashti Chaturthi 2022

Astro Upay
Sankashti Chaturthi 2022

संकष्टी चतुर्थी पूजा विधि
सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और साफ कपड़े पहने। इस दिन लाल रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है। उत्तर दिशा की ओर मुंह कर विधि- विधान से भगवान गणेश की पूजा करें। भगवान गणेश को मोदक या तिल के लड्डू का भोग लगाएं और व्रत संकल्प लें। व्रत के दौरान अन्न नहीं ग्रहण किया जाता है। आप फल का सेवन कर सकते हैं। सेंधा नमक का प्रयोग आप कर सकते हैं।

संकष्टी चतुर्थी का महत्व
मान्यता के अनुसार इस दिन भगवान गणेश की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। घर में सुख-समृद्धि का वास रहता है और शांति बनी रहती है। सूर्योदय से शुरू होकर यह व्रत रात में चंद्रमा के दर्शन के बाद समाप्त होता है।

दिसंबर में इन लोगों के भाग्योदय के प्रबल योग! Grah Gochar December

Astro Upay
Sankashti Chaturthi 2022

संकटी चतुर्थी पौराणिक कथा
पौराणिक कथा के अनुसार एक बार भगवान शिव और माता पार्वती एक नदी के पास बैठे हुए थे। तभी माता पार्वती ने चौपड़ नाम का एक खेल खेलने की इच्छा जाहिर की है। खेल में निर्णायक की समस्या आ रही है।

इस समस्या का समाधान करने के लिए माता पार्वती ने एक बाल को मिट्टी की प्रतिमा का रूप दिया और उसमें जान डाल दी। खेल शुरू गया और भगवान शिव लगातार हार रहे हैं। एक बार बालक ने जानबूझकर माता पार्वती को हारा हुआ घोषित कर दिया।

Astro Upay
Sankashti Chaturthi 2022

इससे माता पार्वती नाराज हो गई और बालक को श्राप दे दिया और वह उसका एक पैर खराब हो गई है। इससे दुखी बालन ने माता पार्वती से क्षमा मांगी। माता पार्वती ने कहा कि संकष्टी ने दिन यहां कन्याएं पूजा करने आती है और तुम विधि पूछकर इस दिन भगवान गणेश की पूजा करने। बालक के ऐसा करने से भगवान गणेश प्रसन्न हो गए और उसे श्राप मुक्त कर दिया।

दैनिक, साप्ताहिक राशिफल, ज्योतिष उपाय,  व्रत एवं त्योहार और रोचक जानकारी के लिए हमें koo app पर फॉलो करें

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।