Chandra Grahan 2022

कारोबार में फायदे के लिए चंद्र ग्रहण पर करें ये उपाय Chandra Grahan 2022

Chandra Grahan 2022 : ज्योतिष शास्त्र (Chandra Grahan) के मुताबिक जिस तरह ग्रह-सितारों का फेरबदल मानव जीवन (Chandra Grahan) पर प्रभाव डालता है ठीक उसी तरह से ग्रहण जैसी खयागोलीय घटना भी समस्त जीवों पर अपना प्रभाव डालती है। ज्योतिष शास्त्र में चंद्रग्रहण का बहुत अधिक महत्व बताया जाता है। साल का पहला चंद्रग्रहण पूर्ण चंद्रग्रहण ग्रहण है इसलिए इसे बहुत ही प्रभावशाली माना जा रहा है। बताया जाता है कि चंद्रग्रहण के दौरान किए गए उपाय भी बहुत अधिक प्रभावशाली हो जाते हैं। इसलिए चंद्र ग्रहण के दौरान छोटे से छोटा उपाय भी व्यक्ति के जीवन में बहुत कारगर साबित होता है। Chandra Grahan 2022

Chandra Grahan 2022

Chandra Grahan 2022
Chandra Grahan 2022

खासतौर पर धन प्राप्ति के लिए चंद्रग्रहण के ठीक बाद उपाय किए जाएं तो उनसे बहुत शीघ्र लाभ होने की मान्यता है। इसलिए यह कहते हैं कि चंद्रग्रहण के ठीक बाद धन आगमन के लिए ज्योतिष शास्त्र के उपायों को अपनाया जाना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि इन उपायों से प्राप्त होने वाले धन से घर में बरकत आती है। आज हम आपको मई माह में घटित होने वाले वर्ष 2022 के पहले चंद्र ग्रहण से जुड़े नकारात्मक प्रभाव और उसके लिए उपाय बताएंगे।

मिलेगा अपार धन, 16 मई को करें पीपल के ये अचूक उपाय Peepal Purnima 2022

दूर होंगे दुख-दर्द, नृसिंह जयंती के दिन करें ये काम Narsimha Jayanti 2022

आपको बता दें कि चंद्र ग्रहण भारतीय समयानुसार 16 मई, 2022 की सुबह 08 बजकर 59 मिनट से शुरू होगा और 10 बजकर 23 मिनट तक समाप्त होगा। जिसका सभी जातकों पर असर दिखाई देगा। ज्योतिषीय दृष्टिकोण से ये माना जा रहा है कि इस ग्रहण की मदद से न केवल आप अपने व्यवसाय में सफलता प्राप्त कर सकेंगे बल्कि आपको धन लाभ करने में भी ये ग्रहण मददगार सिद्ध होगा। हालांकि उसके लिए आपको एक छोटा सा उपाय करने की ज़रूरत होगी।

Chandra Grahan 2022
Chandra Grahan 2022

ऐसे करें उपाय: चंद्र ग्रहण से पहले स्नान आदि कर सफ़ेद या लाल वस्त्र धारण कर पूजा घर में किसी साफ आसन पर उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं। इसके पश्चात ग्रहणकाल प्रारंभ होते ही उस समय चमेली के तेल का दीपक जलाएं। इसके पश्चात अपने दाएं हाथ में रुद्राक्ष की माला और बाएं हाथ में 5 गोमती चक्र लेकर मां भगवती काली और भगवान शिव का स्मरण करते हुए, “ॐ क्रीं कालिके स्वाहा ॐ” मंत्र की एक माला का जाप करें।

क्या होता है बुढ़वा मंगल, क्यों की जाती है हनुमान जी की अराधना Budhwa Mangal 2022

सात घोड़ों की ये तस्वीर लगाने से हो सकती है बुरे दिनों की शुरुआत Running Horse

जप पूरा होने के बाद गोमती चक्रों को किसी डिब्बी में रख दें। इसके बाद 5 हकीक के दाने, 5 मूंग के दाने लें और पुनः मां भगवती काली और भगवान शिव का स्मरण करते हुए, “ॐ क्रीं कालिके स्वाहा ॐ” मंत्र की एक माला का जप करें। इसके बाद इन्हें भी उस डिब्बी में रख दें और डिब्बी में सिंदूर भर दें। यह सब करने के पश्चात चमेली के तेल से जल रहा दीपक बुझा दे और उसका तेल भी डिब्बी में डाल दें।
फिर ग्रहणकाल के बाद इस डिब्बी को बंद करके अपने दफ्तर या ऑफिस या व्यापार वाली जगह के पूजा घर में रख दें, कुछ ही दिन में इसका असर आपको दिखना शुरू हो जाएगा।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।