lord shiva 2 1
राशिफल व्रत एवं त्यौहार

कब से शुरु हो रहा है सावन savan माह, जानिए – कैसे करें भगवान शिव की अराधना

savan : सावन का महीना भगवान शिव को अति प्रिय है। इस महीने में जहां विवाहिताओं का पर्व ​हरियाली तीज आती है, वहीं सावन savan  माह की ​म​हाशिवरात्रि भी आती है। इस पूरे महीने में भगवान शिव की अराधना किए जाने से विशेष फल की प्राप्ति होती है।

how to worship shiva linga 6265266 835x547 m 1

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

MADAN GUPTA SPATU 1
मदन गुप्ता सपाटू, ज्योतिर्विद्,

16 जुलाई शुक्रवार को सोमवार के दिन श्रावण संक्रान्ति आरंभ हो गई है। 20 जुलाई को हरिशयनी एकादशी तथा चतुर्मास का आरंभ होगा। 24 तारीख को गुरु पूर्णिमा, आषाढ़ी पूर्णिमा है। संपूर्ण वातावरण शिवमय हो जाता है। प्रकृति भी अपने पूर्ण जोश में होती है।

24 जुलाई को आषाढ़ मास के समाप्त होते ही 25 जुलाई से सावन

मास का आरंभ हो जायेगा जो 22 अगस्त तक चलेगा। इस दौरान कुल 4 सोमवार पड़ेंगे।

हिन्दू धर्म में सावन या श्रावण महीने का खास महत्व है।

इस महीने में भगवान शंकर की पूजा की जाती है।

इन राशि वालो की पलटेगी किस्मत और चमकेगा भाग्य शुक्र Venus का सिंह राशि में गोचर

ऐसी मान्यता है कि सावन के महीने में सोमवाको व्रत रखने और भगवान शंकर की पूजा करने वाले जातक को मनवांछित जीवनसाथी प्राप्त होता है और जीवन में सुख समृद्धि बढ़ती है।

विवाहित औरतें यदि श्रावन महीने का सोमवार व्रत रखती हैं तो उन्हें भगवान शंकर सौभाग्य का वरदान देते हैं।

बहुत से लोग सावन या श्रावण के महीने में आने वाले पहले सोमवार से ही 16 सोमवार व्रत की  शुरुआत करते हैं।

शादी marriage के लिए बचा है केवल एक दिन, इसके बाद करना पड़ेगा काफी इंतजार

कब होगा आषाढ़ माह समाप्त, कब सावन मास का होगा आरंभ ?

आषाढ़ माह समाप्त: 24 जुलाई 2021, शनिवार को
सावन मास आरंभ: 25 जुलाई 2021, रविवार से

सावन मास की सोमवार की महत्वपूर्ण तिथियां:

इस बार पहली सोमवारी 26 जुलाई को पड़ रही है जबकि चौथी सोमवारी 16 अगस्त को पड़ेगी।

सावन का पहला
सोमवार: 26 जुलाई 2021

सावन का दूसरा
सोमवार: 2 अगस्त 2021

सावन का तीसरा
सोमवार: 9 अगस्त 2021

सावन का चौथा
सोमवार: 16 अगस्त 2021

Astro Tips : नहीं मिल रहा है मेहनत का फल तो यह उपाय जगा देंगे आपका भाग्य

मनोकामना पूर्ति के लिए सावन में शिवलिंग पर चढ़ाये ये चीज़े

शिवलिंग पर चढ़ाएं ये 10 चीजें

जल
दूध
दही
शहद
घी
शकर
ईत्र
चंदन
केशर
भांग

इन सभी चीजों को एक साथ मिलाकर या एक-एक चीज से शिवजी को स्नान करवा सकते हैं।
शिवपुराण में बताया गया है कि इन चीजों से शिवलिंग को स्नान कराने पर सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो सकती हैं। स्नान करवाते समय ऊँ नम: शिवाय मंत्र का जप करना चाहिए।

दस चीजें और उनसे मिलने वाले फल

मंत्रों का उच्चारण करते हुए शिवलिंग पर जल चढ़ाने से हमारा स्वभाव शांत होता है । आचरण स्नेहमय होता है ।

शहद चढ़ाने से हमारी वाणी में मिठास आती है।

दूध अर्पित करने से उत्तम स्वास्थ्य मिलता है।

दही चढ़ाने से हमारा स्वभाव गंभीर होता है।

शिवलिंग पर घी अर्पित करने से हमारी शक्ति बढ़ती है।

ईत्र से स्नान करवाने से विचार पवित्र होते हैं।

शिवजी को चंदन चढ़ाने से हमारा व्यक्तित्व आकर्षक होता है। समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता है।

केशर अर्पित करने से हमें सौम्यता प्राप्त होती है।

भांग चढ़ाने से हमारे विकार और बुराइयां दूर होती हैं।

शक्कर चढ़ाने से सुख और समृद्धि बढ़ती है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in