Dayan Temple
धर्म दर्शन राशिफल

Dayan Temple यहां पूजी जाती हैं डायन, भेंट न चढ़ाने पर आती हैं मुश्किलें

Dayan Temple : भारत में चमत्‍कारिक, ऐतिहासिक मंदिरों के अलावा अजीबो-गरीब मंदिरों की भी कमी नहीं है। किसी मंदिर में बाइक की पूजा होती है तो कहीं चूहों को भोग लगाए बिना पूजा पूरी नहीं मानी जाती है। ऐसा ही एक अजीब मंदिर छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में है। इस मंदिर में डायन देवी की पूजा होती है। इतना ही नहीं इस मंदिर में डायन (प्रेतिन) के दर्शन करने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं।

Dayan Temple
Dayan Temple

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

सभी राशियों का वार्षिक राशिफल 2022 पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बालोद जिले में ये मंदिर गुंडरदेही विकासखंड के ग्राम झींका में सड़क किनारे बना हुआ है और 200 साल से ज्‍यादा पुराना है और परेतिन देवी मंदिर के नाम से मशहूर है। यहां प्रेतिन को स्‍थानीय भाषा में लोग परेतिन कहते हैं। यहां के लोग कहते हैं कि पहले यहां मंदिर के नाम पर केवल चबूतरा था। लोगों ने मंदिर बनाने के लिए ईंटें दान कीं और उन्‍हीं ईंटों से यह मंदिर बनाया गया। नवरात्रि में यहां अच्‍छा-खासा उत्‍सव होता है और लोग दूर-दूर से यहां दर्शन करने के लिए आते हैं। मान्‍यता है कि इस मंदिर में मांगी गई हर मन्‍नत पूरी हो जाती है।

UP Election 2022 क्या कहती है CM योगी की ग्रहचाल, भाजपा को मिलेंगी इतनी सीट!

हर राहगीर को चढ़ानी होती हैं भेंट
यह मंदिर सड़क के किनारे ही बना है। इसके सामने से गुजरने वाले सभी वाहन चालक मंदिर में कुछ भेंट चढ़ाकर ही आगे बढ़ते हैं। खासतौर पर मालवाहक वाहनों के चालक इस परंपरा का सख्‍ती से करते हैं। कहते हैं कि यदि ऐसा नहीं किया तो उन्‍हें रास्‍ते में परेशानियां आती हैं। इसके अलावा शादी-विवाह, मुंडन या तीर्थ यात्रा जैसे शुभ कार्यों के लिए निकलने वाले लोग भी यहां पर भेंट चढ़ाकर आर्शीवाद प्राप्‍त करते हैं।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in