6qwUCYZe 1 ganeshavoice.in क्या होती है सरगी की थाली, क्या होता है इस थाली में खास ? Karwa Chauth 2021
राशिफल व्रत एवं त्यौहार

क्या होती है सरगी की थाली, क्या होता है इस थाली में खास ? Karwa Chauth 2021

Karwa Chauth 2021 : करवा चौथ का व्रत हिंदू धर्म में महिलाओं के लिए विशेष महत्व रखता है। करवा चौथ कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। ये दिन विवाहित महिलाओं के लिए बहुत ही खास होता है। इस दिन, विवाहित महिलाएं सूर्योदय से पहले ‘सरगी’ खाती हैं। बाकी दिन बिना पानी और भोजन किए व्रत रखकर अपने पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं।

6qwUCYZe 1 ganeshavoice.in क्या होती है सरगी की थाली, क्या होता है इस थाली में खास ? Karwa Chauth 2021

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

इस साल करवा चौथ 24 अक्टूबर 2021 को मनाया जाएगा। मेंहदी, सोलह श्रृंगार और सरगी जैसे कुछ चीजों के बिना ये उत्सव अधूरा है। सरगी एक सदियों पुरानी रस्म है जो इस दिन विशेष रूप से उत्तर भारत में की जाती है। अगर आप नहीं जानते कि सरगी क्या है और इसका महत्व क्या हैं तो यहां जानिए सरगी के बारे में सबकुछ।

बहुत चमत्कारी है बरगद की जड़, इससे दूर हो सकती कई परेशानियां

सरगी क्या है?
सरगी वो भोजन है जो विवाहित महिलाओं को सूर्योदय से पहले खानी होती है। इस पारंपरिक भोजन में अलग-अलग तरह के फूड्स शामिल होते हैं। ये एक महिला को अपनी सास से मिलते है। सरगी अपनी बहू को शुभ दिन पर आशीर्वाद देने का तरीका है ताकि वो पूरे दिन सफलतापूर्वक उपवास कर सके। सरगी व्रत के दौरान महिला को पूरे दिन ऊर्जावान रहने में मदद करती है।

आखिर करवा चौथ के दिन छलनी से क्यों देखते हैं चांद? Karwa Chauth 2021

सरगी का मुहूर्त कब होता है?
सरगी का सेवन हमेशा ब्रह्म मुहूर्त के दौरान किया जाता है जो सूर्योदय से पहले होता है।

सरगी की थाली में कौन से फूड्स शामिल होते हैं?
सरगी में स्वादिष्ट फूड्स होते हैं जो महिला को दिनभर भरा रखने में मदद कर सकते हैं। परंपरागत रूप से इन फूड्स को सरगी की थाली में शामिल किया जाता है।

फ्रेश फ्रूट

करवा चौथ एक निर्जला व्रत है जिसका अर्थ है कि पूरे दिन पानी नहीं पी सकते जब तक कि वे चंद्रमा को नहीं देख लेते। यही कारण है कि सरगी थाली में बहुत सारे ताजे फल होते हैं। फलों में पानी की मात्रा अधिक होती है। ये दिन भर भरा और हाइड्रेटेड रखते हैं।

महिलाओं के जन्म के महिने में छिपे होते हैं कई गहरे राज, जानिए अभी women secrets

मेवे

बादाम, पिस्ता, किशमिश, काजू जैसे सूखे मेवे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं और शरीर को भरपूर ऊर्जा प्रदान करते हैं। सुबह इनका सेवन सरगी के रूप में करने से उपवास करने वाली महिला पूरे दिन ऊर्जावान रहती है।

मिठाइयां

परंपरागत रूप से, सरगी थाली में हमेशा एक या एक से अधिक मिठाइयां होती हैं। ये घर का बना या रेडीमेड हो सकता है। मिठाई ग्लूकोज और सुक्रोज से भरपूर होती हैं जो आपके शरीर को लंबे समय तक ऊर्जा प्रदान करती हैं।

दीवाली से पहले 60 साल बाद बना बेहद शुभ संयोग, क्या है खास बात 

चाय/जूस

अगर आप चाय पसंद करते हैं तो आप अपनी सरगी थाली में एक कप चाय भी ले सकते हैं। एक गिलास ताजे फल या सब्जियों के जूस का भी सेवन किया जा सकता है। ये आपको हाइड्रेट रखता है।

हल्के पके हुए भोजन

सरगी थाली में हल्के भोजन जैसे सब्जियों के साथ सेंवई या दूध के साथ मीठी सेंवई भी शामिल हो सकती है। हलवे का भी सेवन किया जा सकता है। ये आपको काफी समय तक भरा रखते हैं।

फेनियां और मट्ठी

इस त्योहार के दौरान आमतौर पर फेनियां और मट्ठी का आनंद लिया जाता है। बहुत सारे दूध और सूखे मेवों के साथ ताजा बनाई गई फेनियान भी ले सकते हैं। सरगी के लिए मीठी या नमकीन मट्ठी का भी सेवन किया जा सकता है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in