chandra grahan 2021 1 1 ganeshavoice.in Chandra Grahan 2021: आज ग्रहण के दौरान इन उपायों को करने से चमकेगी आपकी किस्मत
एस्ट्रो न्यूज ज्योतिष जानकारी

Chandra Grahan 2021: आज ग्रहण के दौरान इन उपायों को करने से चमकेगी आपकी किस्मत

Chandra Grahan 2021: किसी भी ग्रहण की घटना को धार्मिक रूप से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। ग्रहण के दौरान किसी भी तरह के शुभ काम को करने की मनाही होती है, लेकिन मानसिक रूप से भगवान के ध्यान और मनन के लिए ये समय काफी अच्छा माना जाता है।

chandra grahan 2021 1 1 ganeshavoice.in Chandra Grahan 2021: आज ग्रहण के दौरान इन उपायों को करने से चमकेगी आपकी किस्मत

साल 2021 का पहला चंद्र ग्रहण 26 मई 2021 को बुधवार के दिन पड़ रहा है। माना जाता है कि ग्रहण के दौरान यदि कुछ उपाय किए जाएं तो सोई हुई किस्मत भी जाग सकती है और कई बड़ी समस्याओं से मुक्ति पाई जा सकती है. यहां जानिए कुछ ऐसे 2 उपाय जो आपके घर में धन वर्षा कर देंगे।

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

इस उपाय से अचानक होगा धन लाभ
चंद्र ग्रहण से पहले नहाकर पीले रंग के स्वच्छ कपड़े पहनें और एक चौकी को ऐसे स्थापित करें कि बैठते समय आपका मुंह उत्तर दिशा की ओर हो। एक थाली में केसर से स्वस्तिक या ऊँ बनाएं और उस पर महालक्ष्मी यंत्र रखें। अब एक थाली में शंख रखें और इस थाली को यंत्र के सामने स्थापित करें। थोड़े से अक्षत केसर से रंगें और इसे शंख में डाल दें। चंद्र ग्रहण शुरू होने के बाद कुश के आसन पर उत्तर दिशा में मुंह करके बैठें। अब थोड़े से चावल को केसर में रंगकर शंख में डालें और घी का दीपक जलाएं। इसके बाद कमलगट्टे की माला से नीचे बताए जा रहे मंत्र का ग्यारह माला जाप करें।

सिद्धि बुद्धि प्रदे देवि मुक्ति मुक्ति प्रदायिनी, पुते सदा देवी महालक्ष्मी नमोस्तुते।

मंत्र जाप पूरा होने के बाद इस सामग्री को किसी नदी या तालाब में विसर्जित कर दें। ये प्रयोग काफी कारगर माना जाता है। मान्यता है कि इसे करने के बाद कुछ ही दिनों में अचानक धन लाभ हो सकता है।

कारोबार में लाभ के लिए
कोरोना काल में तमाम लोगों के कारोबार को बहुत नुकसान पहुंचा है। ऐसे में यदि आपको इस नुकसान की भरपाई करना है और ज्यादा से ज्यादा लाभ चाहिए तो ग्रहण वाले दिन इस प्रयोग को करने से काफी लाभी मिल सकता है। प्रयोग करने के लिए चंद्र ग्रहण से पहले नहाकर लाल या सफेद कपड़े पहन लें। इसके बाद ऊन व रेशम से बने आसन को बिछाकर उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं। ग्रहण काल शुरू होने पर चमेली के तेल का दीपक जलाकर दाएं हाथ में रुद्राक्ष की माला लें और बाएं हाथ में पांच गोमती चक्र लें। अब ऊँ कीली कीली स्वाहा मंत्र का 54 बार जाप करें।

इसके बाद गोमती चक्रों को एक डिब्बी में डालें और पांच हकीक दाने और पांच मूंगे के दाने लेकर मंत्र का 54 बार जाप करें। जाप के बाद इन्हें भी डिब्बी में डाल दें और उसके ऊपर सिंदूर भर दें। अब दीपक का तेल भी इस डिब्बी में डाल दें और डिब्बी को बंद करके अपने कार्य स्थल पर रख दें। कुछ ही समय में आपको इसका असर दिखने लगेगा।

नोट— यह लेख धार्मिक मान्यताओं पर आधारित है। जनरूचि को ध्यान में रखते हुए प्रकाशित किया गया है। कोई भी पहल करने से पहले विशेषज्ञ की सलाह अवश्य ले लें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in