Nag Panchmi 2022

नाग देव की नाराजगी तबाह कर देती है धन-संपत्ति, जानें बचने के उपाय! Nag Panchami 2022

Nag Panchami 2022 Upay: मां लक्ष्‍मी की कृपा चाहते हैं तो नाग देवता (Nag Panchami 2022) को प्रसन्‍न रखना बहुत जरूरी है क्‍योंकि नाग देवता ही धन की रक्षा करते हैं. इसलिए खजानों के साथ नाग मिलने की कई कथाएं प्रचलित हैं. (Nag Panchami 2022) जिन लोगों ने नाग की पूजा की उनके पास कभी धन की कमी नहीं हुई. नाग उपासकों पर मां लक्ष्‍मी की कृपा हमेशा बरसती है. कई राजा-महाराजा ऐसे हुए हैं जिन्‍होंने नाग मंदिर बनाए और उनकी पीढ़ी दर पीढ़ी उनके यहां नाग उपासना की परंपरा रही है.

Nag Panchami 2022 Upay

Nag Panchmi 2022
Nag Panchmi 2022

नाग की नाराजगी कर देती है बर्बाद

वहीं नाग देवता की नाराजगी जीवन बर्बाद कर देती है. ऐसे जातक पूरी जिंदगी पैसों की तंगी झेलते हैं और विरासत में मिली संपत्ति तक नष्‍ट कर बैठते हैं. क्‍योंकि नाग की नाराजगी उन पर धन की देवी मां लक्ष्‍मी की कृपा नहीं होने देती हैं. ऐसे में जरूरी है कि नाग देवता की नाराजगी का असर पहचानकर उसे दूर करने के उपाय कर लिए जाएं.

नाग देवता की नाराजगी के लक्षण

यदि कोई व्‍यक्ति अपने जीवनकाल में या पिछले जन्‍म में नाग को नुकसान पहुंचाता है तो उससे नाग देव नाराज हो जाते हैं. वहीं कुंडली में यह स्थिति काल सर्प दोष के तौर पर सामने आती है. पंडित शशिशेखर त्रिपाठी कहते हैं कि यदि कड़ी मेहनत के बाद भी पैसा की तंगी खत्‍म नहीं हो रही हो. घर की बनी बनाई संपत्ति बर्बाद हो रही हो, व्‍यक्ति गरीब होता जाए तो इसके पीछे नाग देवता की नाराजगी वजह हो सकती है.

जन्माष्टमी पर श्री कृष्ण बेशुमार धन, अर्पित करें ये एक चीज Janmashtami 2022

इस मंदिर में कालसर्प दोष से मिलती है मुक्ति Nagpanchami Special

इसके अलावा नाग देव यदि रूठ जाएं तो व्‍यक्ति के शरीर में टॉक्सिंस की मात्रा बढ़ जाती है. परिवार के लोग बार-बार फूड पॉइजनिंग के शिकार हो जाते हैं. उन्‍हें जख्‍म पकते हैं और ठीक होने का नाम नहीं लेते हैं. सर्प दंश का शिकार हो सकते हैं, घर में बार-बार सांप निकलने लगते हैं या सपने में अक्‍सर सांप दिखाई देते हैं. नाग की नाराजगी कैंसर तक का कारण बन सकती है क्‍योंकि कैंसर राहु के कुप्रभाव के कारण होता है और राहु नाग का फन हैं.

Nag Panchmi 2022
Nag Panchmi 2022

नाग देव की कृपा पाने के उपाय

नाग देव की भाव पूजा करना सबसे उत्‍तम माना गया है. इसके लिए नवनाग मंत्र का जाप करें. इस मंत्र को जब 9 बार पढ़ा जाता है, तब उसकी गिनती एक मानी जाती है क्‍योंकि एक बार नवनाग मंत्र पढ़ना एक नाग देवता की आराधना करना है. नाग पंचमी के दिन नवनाग मंत्र का जाप जरूर करें.

इस सप्ताह इन राशि वालों को मिलेगा किस्मत का साथ Horoscope Weekly

3 राशि वालों को होगा महाधन लाभ, सूर्य अपनी प्रिय राशि में करेंगे गोचर Surya Gochar

नवनाग मंत्र –

अनन्तं वासुकिं शेषं पद्मनाभं च कम्बलं।
शन्खपालं ध्रूतराष्ट्रं च तक्षकं कालियं तथा।।
एतानि नव नामानि नागानाम च महात्मनम्।
सायमकाले पठेन्नीत्यं प्रातक्काले विशेषतः।।
तस्य विषभयं नास्ति सर्वत्र विजयी भवेत्।

Nag Panchmi 2022
Nag Panchmi 2022

इसके अलावा सर्पाकार आकार वाली चीजें जैसे मैगी, नूडल्‍स न खाएं. चांदी के नाग-नागिन का जोड़ा शिवलिंग पर अर्पित करें. कभी भी नाग को चोट न पहुंचाएं, ना ही सताएं. चंदन की चीजों जैसे साबुन, इत्र आदि का उपयोग करने से नाग की नाराजगी का असर कम होता है. नाग देवता की आराधना करने के बाद उनसे माफी मांगें कि यदि पिछले जन्‍म में भी नाग देवता को नुकसान पहुंचाने की गलती हुई हो तो माफ करें.

Get FREE HOROSCOPE in 30 seconds
Date of birth
Time of Birth
Gender

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार  और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।