Guru Margi Astrology

मार्गी गुरु इन लोगों की लगा सकते हैं लॉटरी! Guru Margi Astrology

Guru Margi astrology: ज्योतिष शास्त्र में कुल 9 ग्रहों और 12 राशियों के आधार पर गणना की जाती है। (Guru Margi Astrology) ज्योतिष शास्त्र में देवगुरु बृहस्पति का विशेष स्थान है। सभी ग्रहों में बृहस्पति को सबसे शुभ फल देने वाला ग्रह माना जाता है। (Guru Margi Astrology) ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति ग्रह को मान सम्मान, विवाह, भाग्य, अध्यात्म, संतान का कारक माना गया है। इसके साथ ही ग्रह को पुत्र, पत्नी, धन, शिक्षा और वैभव का कारक ग्रह माना जाता है।

Guru Margi Astrology

Guru Margi Astrology
Guru Margi Astrology

गुरु बृहस्पति के मार्गी होने का समय और तिथि
ज्योतिष शास्त्र के गणनाओं के आधार पर 29 जुलाई दिन शुक्रवार को गुरु बृहस्पति मीन राशि में वक्री हुए थे, अब 24 नवंबर को मीन राशि में मार्गी होंगे। 29 जुलाई को देवगुरु के मीन राशि में वक्री होने के बाद से कई राशियों के लोगों के जीवन में बदलाव हुए थे। अभी मार्गी होने में बृहस्पति को 119 दिन लगे यानी 24 नवंबर को शाम 4:29 बजे गुरु मार्गी हो जाएंगे।

शादीशुदा जिंदगी को तबाह कर देती हैं पति-पत्‍नी की ऐसी गलतियां! Husband Wife Relationship

Guru Margi Astrology
Guru Margi Astrology

वैदिक ज्योतिष के अनुसार बृहस्पति को सबसे अधिक लाभकारी ग्रह माना जाता है। गुरु अपनी राशि में स्थित होने पर जातकों को शुभ फल देता है। बृहस्पति मार्गी होने के बाद वृषभ राशि, कर्क राशि, कन्या राशि के साथ वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शुभफलदायी साबित होंगे।

इस दौरान गुरु बृहस्पति जातकों को करियर में तरक्की के साथ आर्थिक रूप से मजबूत बनाने का कार्य करेंगे। कुछ जातकों को सैलरी में बढ़ोतरी के साथ पदोन्नति का लाभ भी मिल सकता है।

Guru Margi Astrology
Guru Margi Astrology

बृहस्पति को कलपुरुष कुंडली के चौथे भाव यानि कर्क में उच्च का माना जाता है। अगर आपने कुंडली के चौथे भाव में गुरु मौजूद हैं तो आपके लिए बहुत ही शुभ साबित होंगे। वहीं कुंडली में नवम और बारहवें भाव यानि धनु और मीन राशि मौजूद हों तो इन्हें उच्च शिक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।

तो आपकी कुंडली में अगर आपको यह दशम भाव मकर राशि में विराजमान हों तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। जिन लोगों की कुंडली में गुरु मजबूत होता है उन्हें कई तरह से लाभ मिलता है। जीवन में धन, धन, प्रतिष्ठा, प्रतिष्ठा और उच्च पद की प्राप्ति होती है। बृहस्पति ग्रह को किसी एक राशि से दूसरी राशि में जान के लिए लगभग 1 वर्ष का समय लगता है।

दैनिक, साप्ताहिक राशिफल, ज्योतिष उपाय,  व्रत एवं त्योहार और रोचक जानकारी के लिए हमें koo app पर फॉलो करें

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।