Chandra Grahan 2022

चंद्र ग्रहण से सभी 12 राशियों पर पड़ेगा क्या प्रभाव Chandra Grahan 2022

Chandra Grahan 2022: वैदिक ज्योतिष के अनुसार समय- समय पर सूर्य और चंद्र ग्रहण लगते रहते हैं। (Chandra Grahan 2022) ग्रहण का प्रभाव देश- दुनिया सहित सभी राशियों पर पड़ता है। आपको बता दें कि 08 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। यह ग्रहण (Chandra Grahan 2022) कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा को लगेगा। साथ ही इस दिन देव दीपावली का संयोग भी है। साथ ही यह खग्रास चन्द्रग्रहण सम्पूर्ण भारत में ग्रस्तोदय (अर्थात् ग्रहण लगा हुआ चन्द्रमा उदय होगा) के रूप में दिखाई देगा।

Chandra Grahan 2022

Chandra Grahan 2022
Chandra Grahan 2022

यह चंद्रग्रहण भारत के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी अमेरिका, अधिकांश दक्षिणी अमेरिका, उत्तरी-पूर्वी यूरोप, प्रशांत महासागर व एशिया स्थित सभी देश तथा रूस, चीन, पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल, कजाकिस्तान, मंगोलिया, कोरिया, जापान आदि में दिखाई देगा। इस ग्रहण का असर सभी राशियों पर पड़ेगा। आइए जानते हैं कि सभी राशियों पर इसका कैसा प्रभाव रहेगा।

चंद्र ग्रहण का समय
चंद्र ग्रहण प्रारंभ : 2 बजकर 39 मिनट पर
चंद्र ग्रहण समाप्त: 6 बजकर 19 मिनट पर

आपको बता दें कि सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी आ जाती है तब चंद्र ग्रहण लगता है। साथ ही चंद्र ग्रहण का सूतक 9 घंटे पहले शुरू हो जाता है।

ग्रहण का 12 राशियों पर प्रभाव :- यह ग्रहण भरणी नक्षत्र और मेषराशि में घटित हो रहा है। इसलिए इस नक्षत्र व राशि में जन्में व्यक्तियों के लिए विशेष कष्टप्रद साबित हो सकता है। साथ ही जिन राशियों पर ग्रहण का अशुभ फल लिखा है, उन्हें यथाशक्ति दान, जप, पाठ करना चाहिए। ग्रहण का फल विभिन्न राशियों पर प्रभाव…

कार्तिक पूर्णिमा पर इन 4 खास चीजों का दान खोल देगा नसीब Kartik Purnima 2022

Chandra Grahan 2022
Chandra Grahan 2022

1. मेष :- दुर्घटना का भय

2. वृष :- धनहानि

3. मिथुन :- उन्नति व लाभ

4. कर्क :- सुख-वैभव

5. सिंह :- मानहानि, भय

6. कन्या :- शरीका का कष्ट

7. तुला :- दाम्पत्य कष्ट

8. वृश्चिक :- कार्य में सिद्धि

9. धनु :- चिन्ता व पीड़ा

10. मकर :- रोगभय

11. कुम्भ :- धनलाभ

12. मीन :- व्यय में वृद्धि

Chandra Grahan 2022
Chandra Grahan 2022

ग्रहण का अन्य फल :-
कार्तिक मास में मंगलवार को ग्रस्तोदय चन्द्रग्रहण होने से लूटपाट, चोरी व अग्निकाण्ड की घटनाएं बढ़ सकती हैं। साथ ही शीतकालीन फसलों में रोग प्रकोप होगा। राजनेताओं में भी खींचतान बढ़ सकती हैं। ग्रहण के समय चन्द्र-राहु का सूर्य-बुध-शुक्र-केतु से सम-सप्तक योग बनने से प्राकृतिक प्रकोप से जन-धन की हानि तथा धातु व रस पदार्थों में तेजी हो सकती है।

दैनिक, साप्ताहिक राशिफल, ज्योतिष उपाय,  व्रत एवं त्योहार और रोचक जानकारी के लिए हमें koo app पर फॉलो करें

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।