Parivartini Ekadashi

आज परिवर्तिनी एकादशी पर बनेगा दुर्लभ संयोग, भूलकर भी न करें ये काम Parivartini Ekadashi 2022

Parivartini Ekadashi 2022 हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि (Parivartini Ekadashi 2022) को भगवान करवट बदलते हैं इसलिए इसे परिवर्तिनी एकादशी कहते हैं. परिवर्तिनी एकादशी (Parivartini Ekadashi 2022) के दिन व्रत रखा जाता है और इसका पारणा अगले दिन द्वादशी को शुभ मुहूर्त में किया जाता है. इस साल आज 6 सितंबर, मंगलवार को परिवर्तिनी एकादशी व्रत रखा जाएगा. इसे जलझूलनी एकादशी और पद्म एकादशी भी कहते हैं.

Parivartini Ekadashi 2022

Parivartini Ekadashi
Parivartini Ekadashi

परिवर्तिनी एकादशी के दिन भगवान बदलते हैं करवट

धार्मिक मान्यता है कि चातुर्मास के दौरान भगवान विष्‍णु पाताल लोक में योगनिद्रा में रहते हैं. यानी कि भगवान इन 4 महीनों में आराम करते हैं. इस दौरान भाद्रपद महीने की एकादशी को भगवान विष्‍णु करवट बदलते हैं इसलिए इसे परिवर्तिनी एकादशी कहते हैं.

धर्म शास्‍त्रों के मुताबिक परिवर्तिनी एकादशी का व्रत करने से वाजपेय यज्ञ करने जितना फल मिलता है. इससे भगवान विष्णु प्रसन्‍न होते हैं और जातक के जीवन में कभी भी कोई दुख-संकट नहीं आते हैं.

कब से शुरू हो रहे हैं श्राद्ध 2022? यहा जानें तर्पण की तिथियां और महत्व Shradh 2022

Parivartini Ekadashi
Parivartini Ekadashi

परिवर्तिनी एकादशी पर शुभ संयोग

इस साल परिवर्तिनी एकादशी पर बेहद शुभ संयोग बनने जा रहा है. इस दिन सूर्योदय के साथ ही विभिन्‍न शुभ योग बनने का सिलसिला शुरू हो जाएगा. 6 सितंबर की सुबह आयुष्मान योग, मित्र योग और रवियोग शुरू हो जाएंगे. इसके बाद सौभाग्य योग शुरू हो जाएगा.

इसके अलावा इस एकादशी पर 4 प्रमुख ग्रह सूर्य, बुध,गुरु और शनि अपनी-अपनी राशियों में रहेंगे. ऐसी शुभ ग्रह स्थितियों में एकादशी व्रत रखने और पूजा रखने का फल कई गुना बढ़ जाएगा.

Parivartini Ekadashi
Parivartini Ekadashi

परिवर्तिनी एकादशी के दिन न करें ये काम

– परिवर्तिनी एकादशी के दिन चावल का सेवन न करें. वैसे तो किसी भी एकादश्‍री के दिन जो लोग व्रत न भी करें उन्‍हें चावल का सेवन नहीं करना चाहिए.

– एकादशी के दिन नॉनवेज-शराब का सेवन न करें. व्रत ना भी करें तो भी तामसिक चीजों से दूर रहें और सात्विक भोजन ही करें.

– एकादशी के दिन ना तो किसी को बुरा बोलें और ना ही क्रोध करें. इस दिन अपना ध्‍यान भगवान विष्‍णु की भक्ति में ही लगाएं.

– जो लोग एकादशी का व्रत कर रहे हैं वे ब्रह्मचर्य का पालन करें.

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार  और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।