Brother Sister

आखिर क्यों होता है भाई-बहन में झगड़ा; कैसे करें ठीक Brother Sister Fighting

Brother Sister Fighting: कई बार माता-पिता अपने काम में लग जाते हैं तो बच्चे (Brother Sister) आपस में झगड़ा शुरू कर देते हैं. कई बार बच्चों में बचपन के मतभेद जीवन भर दिखाई देते हैं और फिर माता-पिता अक्सर कहते भी (Brother Sister) है इन दोनों में हमेशा से नहीं पटती तो आइए जानते हैं कि आखिर भाई-भाई या भाई-बहन के विवाद के क्या ज्योतिषीय कारण हैं और क्या इसके उपाय हैं.

Brother Sister Fighting

Brother Sister
Brother Sister

मंगल और बुध का तालमेल जरूरी

बहन-भाइयों में आपसी संबंध तय करने वाले ग्रह हैं मंगल और बुध. यदि कुंडली में मंगल और बुध की स्थिति अच्छी होगी तो भाई-बहन का सुख पर्याप्त मिलता है. भाई का कारक ग्रह मंगल होता है. यानी कुंडली में मंगल की स्थिति तय करेगी कि भाई का सहयोग कितना होगा. आपस में प्रेम होगा कि नहीं. वैसे बड़े भाई का कारक बृहस्पति तो छोटे भाई का कारक मंगल होता है. ओवरऑल भाई का कारक माने तो मंगल को लेते हैं. बहन का कारक बुध ग्रह है. बुध की स्थिति अच्छी है तो बहन का सुख प्राप्त होता है और बहन से तालमेल भी अच्छा रहता है.

राहु घोलता है संबंधों में जहर

संबंधों में जहर घोलने का काम राहु करता है. राहु यदि कुंडली में मंगल के साथ होकर उन्हें राहु ग्रस लें तो भाई के सुख में बहुत कमी आ जाती है या फिर नहीं मिलता है. भाई-बहन होना और भाई-बहन का सुख होना, यह दोनों ही अलग-अलग बातें हैं. कई बार ऐसा होता है कि भाई तो कई हैं, लेकिन आपस का तालमेल ठीक नहीं है. यहां तक कि मुकदमा भी आपस में चल रहा है.

अपना ही नहीं, अपने पिता का भी भाग्य तय करती हैं इन तारीखों को पैदा हुईं लड़कियां Numerology Predictions

Brother Sister
Brother Sister

बुध और मंगल युत हैं तो भी भाई-बहनों में संबंध बहुत अच्छे नहीं होते हैं. दरअसल, बुध और मंगल स्वभावगत एक दूसरे से बिल्कुल विपरीत हैं. इस कारण इनको शत्रु कहा गया है. भाई की कुंडली में बुध अच्छा है और बहन की कुंडली में मंगल अच्छा है तो संबंध बहुत अच्छे होते हैं और दोनों एक दूसरे पर जान छिड़कते हैं. वहीं, इसके विपरीत विरोध होता है.

भाई की कुंडली में बुध अच्छा है और बहन की कुंडली में मंगल खराब है तो भाई को तो बहन का सुख मिलेगा, लेकिन बहन को भाई का सुख कम मिल पाएगा. उदाहरण के लिए भाई को घर में कोई काम पड़ा तो बहन ने सहयोग कर दिया, लेकिन बहन को बाजार से कोई सामान मंगाना है तो भाई मना कर देगा.

नाजार ग्रह संस्कार देख होते हैं प्रसन्न

अभिभावकों के लिए ध्यान रखने वाली बात यह है कि अगर बेटे की कुंडली में बुध ग्रह यदि मंगल के साथ हैं और उसकी केवल एक बहन है तो बचपन से ही संस्कार दीजिए कि बहन का सम्मान करें, क्योंकि कुंडली में यह युति बहन के साथ कुछ वैचारिक मतभेद उत्पन्न कर सकती. यदि बहन की कुंडली में मंगल अगर राहु के साथ है तो बहुत अधिक संस्कार देने चाहिए.

Brother Sister
Brother Sister

भाई की कुंडली में बहन का प्लेनेट डिस्टर्ब है और बहन की कुंडली में भाई का प्लेनेट डिस्टर्ब है तो यह स्थिति ज्यादा गड़बड़ है. अभिभावकों को एक प्लानिंग ये भी दिमाग में रखनी चाहिए कि अगर कई बच्चे हैं और उनकी आपस में बिल्कुल नहीं बनती है, यानी मंगल सभी का गड़बड़ है और बुध भी ठीक नहीं है. तो बचपन से ही इन बच्चों के लिए अलग-अलग भविष्य की योजनाएं बनाकर रखनी चाहिए, ताकि आगे चलकर विवाद न हो.

क्या करें उपाय

1- मंगल यदि गड़बड़ है तो भाई का सम्मान करना चाहिए, साथ ही हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए.

2- बुध को प्रसन्न करने के लिए गणपति जी की उपासना करनी चाहिए और भाई-बहन को मिलकर पौधे लगाने चाहिए और इसकी देखरेख की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिए.

3- माता-पिता को बच्चों की तुलना एक दूसरे के साथ नहीं करनी चाहिए.

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार  और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।