Airavatesvara Temple बेहद चमत्कारी है भगवान शिव का ये मंदिर
धर्म/पूजा पाठ

बेहद चमत्कारी है भगवान शिव का ये मंदिर Airavatesvara Temple

Airavatesvara Temple: तमिलनाडु में कुंभकोणम के पास दारासुरम (Airavatesvara Temple) में स्थित है ‘एरावतेश्वर मंदिर (Airavatesvara Temple)’. यह मंदिर यूनेस्को द्वारा वैश्विक धरोहर घोषित है. यह हिंदू मंदिर है, (Airavatesvara Temple) जिसे दक्षिणी भारत में 12वीं सदी में बनाया गया था. ऐरावतेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है. भगवान शिव को यहां ऐरावतेश्वर के रूप में जाना जाता है. मान्यता है कि इस मंदिर में देवताओं के राजा इंद्र के सफेद हाथी एरावत द्वारा भगवान शिव की पूजा की गई थी.

Airavatesvara Temple

Airavatesvara Temple

मंदिर की वास्तुकला

इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत ये है कि यहां की सीढ़ियों से संगीत की धुन निकलती है, जिस वजह से ये मंदिर काफी अलग है. मंदिर का न केवल धार्मिक महत्व है, बल्कि ये प्राचीन वास्तुक्ला के लिए भी प्रसिद्ध है. मंदिर की आकृति और दीवारों पर उकरे गए चित्र लोगों को काफी आकर्षित करते हैं.

द्रविड़ शैली में मंदिर

इस मंदिर को द्रविड़ शैली में भी बनाया गया था. प्राचीन मंदिर में आपको रथ की संरचना भी दिख जाएगी और वैदिक और पौराणिक देवता इंद्र, अग्नि, वरुण, वायु, ब्रह्मा, सूर्य, विष्णु, सप्तमत्रिक, दुर्गा, सरस्वती, लक्ष्मी, गंगा, यमुना के चित्र यहां मौजूद हैं.

जन्माष्टमी जरूर खरीदें ये चीजें, बरसेगी श्रीकृष्ण की कृपा Janmashtami 2022

राखी खरीदते समय इस बात का रखें ध्‍यान, भाई-बहन के जीवन में बढ़ेगा सुख! Raksha Bandhan 2022

Airavatesvara Temple

सीढ़ियों से निकलता है संगीत

इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत यहां की सीढ़ियां हैं. मंदिर के एंट्री वाले द्वार पर एक पत्थर की सीढ़ी बनी हुई है, जिसके हर कदम पर अलग-अलग ध्वनि निकलती है. इन सीढ़ियों के माध्यम से आप आप संगीत के सातों सुर सुन सकते है. आप सीढ़ियों पर चलेंगे तब भी आपको धुन सुनने को मिल जाएंगे.

मंदिर को लेकर यह कथा है फेमस

मान्यता है कि ऐरावत हाथी सफेद था, लेकिन ऋषि दुर्वासा के शाप के कारण हाथी का रंग बदल गया. इससे वह काफी दुखी था. उसने इस मंदिर के पवित्र जल में स्नान करके सफेद रंग दोबारा प्राप्त किया. मंदिर में कई शिलालेख हैं. गोपुरा के पास एक अन्य शिलालेख से पता चलता है कि एक आकृति कल्याणी से लाई गई, जिसे बाद में राजाधिराज चोल प्रथम द्वारा कल्याणपुरा नाम दिया गया.

मंदिर जाते समय घर से ही भरकर क्यों ले जाना चाहिए लोटा Temple Vastu Tips

अगस्त में इन राशियों को धनलाभ के संकेत Horoscope August 2022

Airavatesvara Temple

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार  और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

Share
Published by
Ganesha Voice

Recent Posts

Aaj ka Rashifal | आज राशिफल 2 फरवरी 2023 | दिन गुरूवार

Aaj ka Rashifal : जानिए क्या कहते हैं आज आपके सितारे। (Aaj ka Rashifal) मेष,… Read More

7 hours ago

Dainik Panchang | आज का पंचांग 2 फरवरी 2023 | दिन बुधवार

Dainik Panchang : लोकेशन New Delhi, Delhi, India : माघ शुक्ल पक्ष द्वादशी, राक्षस संवत्सर… Read More

7 hours ago

Aaj ka Rashifal | आज राशिफल 1 फरवरी 2023 | दिन बुधवार

Aaj ka Rashifal : जानिए क्या कहते हैं आज आपके सितारे। (Aaj ka Rashifal) मेष,… Read More

1 day ago

Dainik Panchang | आज का पंचांग 1 फरवरी 2023 | दिन बुधवार

Dainik Panchang : लोकेशन New Delhi, Delhi, India: माघ शुक्ल पक्ष एकादशी, राक्षस संवत्सर विक्रम… Read More

2 days ago

Aaj ka Rashifal | आज राशिफल 31 जनवरी 2023 | दिन मंगलवार

Aaj ka Rashifal : जानिए क्या कहते हैं आज आपके सितारे। (Aaj ka Rashifal) मेष,… Read More

2 days ago

Dainik Panchang | आज का पंचांग 31 जनवरी 2023 | दिन मंगलवार

Dainik Panchang : लोकेशन New Delhi, Delhi, India : माघ शुक्ल पक्ष दशमी, राक्षस संवत्सर… Read More

2 days ago