how to worship shiva linga 6265266 835x547 m 1
एस्ट्रो न्यूज रावण संहिता

सोमवार भूलकर भी नहीं करने चाहिए यह 8 कार्य, वर्ना पछताएंगे

सोमवार के देवता भगवान शिव और चंद्रदेव हैं। इस दिन चंद्र दोष को ठीक किया जा सकता है। चंद्र ग्रह हमारे मन और माता का प्रतीक है अत: इसके उपाय से शांति, सेहत और समृद्धि की प्राप्त होती है। सोमवार की प्रकृति सम है। सोमवार का दिन शिवजी और चंद्रदेव का दिन है। सोमवार के दिन उन लोगों को उपवास रखना चाहिए जिनका स्वभाव ज्यादा उग्र है। इससे उनकी उग्रता में कमी होगी।

1595120171 7932 1

समस्या के समाधान के लिए ज्योतिषी से बात करें, बिल्कुल फ्री

1. इस दिन शक्कर का त्याग कर दें।
2. किसी को सफेद वस्त्र या दूध दान में ना दें।
3. इस दिन उत्तर, पूर्व और आग्नेय में यात्रा नहीं करें। खासकर पूर्व दिशा में दिशा शूल रहता है।
4. इस दिन माता से किसी भी प्रकार का विवाद ना करें।
5. कुल देवता का किसी भी प्रकार से अपमान ना करें।

6. इस दिन प्रात:काल 7:30 से 9:00 बजे तक राहु काल रहता है। अत: इस समय यात्रा करना या कोई शुभ कार्य की शुरुआत नहीं करना चाहिए।
7. शनि से संबंधित भोजन ना करें, जैसे बैंगन, कटहल, सरसो का साग, काला तिल, उड़द, तेज मसालेदार सब्जी आदि।
8. शनि से संबंधित कपड़े ना पहने, जैसे काले, नीले, जामुनी या कत्थई।

नोट : मानसिक, शारीरिक या आर्थिक कष्ट हो तो कुलदेवता की पूजा करें। चन्द्रमा कष्ट दे रहा हो तो रात को दूध या पानी से भरा बर्तन सिरहाने रखकर सो जाएं और सुबह पीपल के पेड़ में डाल दें।

Astro Tips,
astrology,
free astrology,
free astrology consultation,
free astrology consultation on whatsapp,
free astrology consultation on phone,
free astrology predictions,
free astrology predictions for career,
free astrology predictions for career in hindi,
free astrology online,
free astrology predictions for marriage,
Free Kundli and Horoscope Predictions With Astro Remedies,
Birth Chart | Vedic Astrology Birth Chart | Rashi Chart & Birth Chart,
Online Free Horoscope,
Astrology- Free Online Horoscope & Online Astrologer,
free astrology reading,

maheshshivapress
महेश कुमार शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in