Shakti Peeth in india
धर्म दर्शन राशिफल

Shakti Peeth देवी के 5 शक्तिपीठ हैं बेहद चमत्कारी, दर्शन से पूरी होती है मनोकामना

Shakti Peeth : भारत में अलग-अलग स्थानों पर देवी के कई शक्तिपीठ (Shakti Peeth) मौजूदहैं। भारत के अलावा भी नेपाल और पाकिस्तान में शक्तिपीठ हैं। इन शक्तिपीठों का वर्णन देवी भागवत पुराण में किया गया है। देवी के पांच शक्तिपीठ (Shakti Peeth) ऐसे हैं जिसके दर्शन से हर मनोकामना पूरी होती है। जानते हैं देवी के इन 5 शक्तिपीठों के बारे में..

Shakti Peeth in india

Shakti Peeth in india
Shakti Peeth in india

Batuka Bhairav बड़े से बड़े संकट से बचाती बटुक भैरव की साधना

हर साल इस मंदिर में होता है चमत्‍कार, आप रह जाएंगे हैरान 

अम्बाजी मंदिर, गुजरात (Shakti Peeth)
अम्बाजी माता मंदिर गुजरात के अरासुर पर्वत पर अवस्थित है। इस मंदिर में देवी की कोई प्रतिमा नहीं है, लेकिन देवी के यंत्र की पूजा की जाती है। इस शक्तिपीठ का दर्शन करन के लिए बड़ी संख्यां में लोग आते हैं। खासकर पू्र्णिमा के दिन यहां भक्तों का तांता लगा रहता है। मान्यता है कि यहां देवी सती का हृदय गिरा था।

देवी तालाब मंदिर, जालंधर (Shakti Peeth)
जालंधर सिटी रेलवे स्टेशन के तकरीबन एक किलोमीटर पर माता का यह शक्तिपीठ अवस्थित है। इसे भी 52 शक्तिपीठों में से एक माना जाता है। मान्यता है कि यहां माता सती का बायां वक्षस्थल गिरा था। देवी को समर्पित यह मंदिर 200 साल पुराना है। मंदिर परिसर में स्थित तालाब श्रद्धालुओं के आकर्षण का केन्द्र हैं।

महिला को इस हालत में देखने से लगता है घोर पाप Garuda Purana

गुजयेश्वरी मंदिर, नेपाल
माता का यह शक्तिपीठ नेपाल में स्थित है। कहते हैं कि यहां माता सती के शरीर का दोनों घुटने गिरे थे। यही कारण है कि इसे 52 शक्तिपीठों में से एक माना जाता है। कुछ लोग देवी के इस शक्तिपीठ को गुह्येश्वरी मंदिर के नाम से भी पुकारते हैं।

Shakti Peeth in india
Shakti Peeth in india

हिंगलाज भवानी, पाकिस्तान
पाकिस्तान के बलूचिस्तान में हिंगलाज माता मंदिर है। इसे 52 शक्तिपीठों में से एक माना गया है। मान्यता है कि यहां देवी का सिर गिरा था।

पति-पत्‍नी में रोजाना होती है लड़ाई? इन सरल उपाय से बढ़ेगा प्‍यार Couple fight

कालीघाट शक्तिपीठ, कोलकाता
पश्चिम बंगाल के कोलकाता में कालीघाट नामक स्थान पर देवी का शक्तिपीठ स्थित है। इसे मां काली का शक्तिपीठ कहा जाता है। इस स्थान पर माता सती के दाएं पैर की चार उंगलियां गिरी थी। कालीघाट में मां काली की प्रतिमा में उनका माथा और चार हाथ नजर आते हैं। लाल रंग के कपड़े से ढकी प्रतिमा में मां काली की जीभ बहुत लंबी है, जो स्वर्ण से बनी है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in