Dream Interpretation
राशिफल स्वप्न फल विचार

सपने में पूर्वजों के दिखने का मतलब? क्या है संकेत Dream Interpretation

Dream Interpretation: सपने देखना एक सामान्य प्रक्रिया है। मनोचिकित्सकों के अनुसार सपने देखने से बुद्धि शार्प होती है। मेडिकल साइंस मानता है कि सपने देखने से इंसान की मानसिक थकान दूर होती हैै। वहीं स्वप्न शास्त्र के मुताबिक सपने भविष्य में होने वाली अच्छी या बुरी घटनाओं का संकेत देते हैं। सपने में पितरों (Dream Interpretation) को देखना भी खास संकेत देता है। जानते हैं इस बारे में…

Dream Interpretation

Dream Interpretation
Dream Interpretation

जीवन को बर्बाद कर देता है गुरु-चांडाल दोष, ये सरल उपाय रखेंगे खुशहाल 

क्या कहता है गरुड़ पुराण (Dream Interpretation)

स्वप्न शास्त्र के मुताबिक सपने में पितरों का आना शुभ है। यह इस बात का संकेत देता है कि किसी अहम काम में सफलता मिलने वाली है। अक्सर लोग सपने में देखते हैं कि उनके पूर्वज उनसे कुछ मांग रहे हैं। ये इस बात का संकेत देता है कि पूर्वजों के द्वारा मांगी गई चीज श्रद्धा पूर्वक दान करना चाहिए। गरुड़ पुराण के मुताबिक पूर्वजों का सपने में आने का मतलब है कि उनकी आत्मा भटक रही है। ऐसे में उनकी आत्मा की शांति के लिए घर में पूजा-पाठ करवाना चाहिए।

Budh Vakri 2022 : इन 4 राशि वालों की बढ़ सकतीं हैं मुश्किलें!

पितरों के मुस्कुराते देखना

अगर सपने में पितर मुस्कुराते हुए दिखें तो यह शुभ संकेत देता है। माना जाता है कि पितरों की विशेष कृपा मिलने वाली है। साथ ही भविष्य में घर में सुख-शांति बढ़ने वाली है। इसके अलावा ऐसा सपना आने वाले समय में किसी बड़े लक्ष्य की प्राप्ति का संकेत देता है।

Dream Interpretation
Dream Interpretation

आखिर कब और क्यों की जाती है गंगा सागर यात्रा Ganga Sagar

पितरों को गुस्साए देखना

सपने में पितरों को गुस्साए देखना शुभ माना जाता है। ऐसा सपना इस बात का संकेत देते हैं कि पितर खुश नहीं हैं। हालांकि ऐसे सपने पितृदोष से पीड़ित लोगों को दिखते हैं। यह सपना इस बात का संकेत देता है कि पितर कोई इच्छा अधूरी रह गई है।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय,  व्रत एवं त्योहार फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए  ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in