Donate 1
राशिफल लाल किताब वास्तु टिप्स

हो सकता है बड़ा नुकसान यदि सूरज छिपने के बाद इन वस्तुओं का करेंगे दान : Donate

Donate  : हिंदू धर्म में दान-पुण्य Donate करने का विशेष महत्व होता है। किसी भी तरह की विशेष पूजा, हवन आदि के बाद दान- पुण्य Donate करना शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इससे घर में बरकत होती है. इसके अलावा घर में सुख- समृद्धि बनी रहती है। लेकिन कुछ चीजों का दान Donate करना शुभ नहीं होता है। वास्तु के अनुसार, ऐसी कई चीजें है जिन्हें सूर्यास्त के बाद दान करने से बचना चाहिए।

Donate 1

जीवनसाथी की तलाश हुई आसान! फ्री रजिस्ट्रेशन करके तलाश करें अपना हमसफर

समस्या है तो समाधान भी है, विद्वान ज्योतिषी से फ्री में लें परामर्श

इसके अलावा दूसरों से चीजों को मांगकर इस्तेमाल करना भी अच्छा नहीं माना जाता है। मान्यता है कि शाम के समय में पड़ोसियों से भी कुछ लेना एक तरह का उधार होता है जिसकी वजह से घर की बरकत में रूकावट आती है। आइए जानते हैं उन चीजों के बारे में जिन्हें सूर्योस्त के बाद दान में नहीं करना चाहिए।

हल्दी
वास्तु शास्त्र के अनुसार शाम के समय में हल्दी दान करने से घर में बरकत नहीं होती है। हल्दी को गुरु का कारक माना जाता है। मान्यता है कि आपने जो दिया है उसमें बरकत नहीं होती है।

दूध
दूध का सीधा संबंध चंद्रमा से होता है। मान्यता है कि इसे माता लक्ष्मी और विष्णु का कारक माना जाता है। इसलिए सूर्यास्त के बाद दूध दान करने से धन की कमी होती है।

दही
वास्तु के अनुसार दही शुक्र का कारक माना जाता है। इससे घर में सुख और समृद्धि आती है। माना जाता है कि शाम के समय में दही दान करने से घर की सुख- समृद्धि चली जाती है।

बासी भोजन दान में देना
शास्त्रों में किसी गरीब को खाना खिलाना पुण्य माना गया है। कई लोग दान में बासी भोजन खिलाते हैं। ऐसे करने से पाप लगता है। हमेशा साफ और स्वच्छ भोजन दान में देना चाहिए।

पैसे का लेन-देन न करें
वास्तु शास्त्र के अनुसार शाम के समय में किसी को भी पैसे उधार न दें। ऐसा करने से माता लक्ष्मी की कृपा नहीं रहती है। साथ ही घर में पैसों की दिक्कते शुरू हो जाती है। इसलिए शाम के समय में पैसे उधार लेने और देने से बचना चाहिए।

ज्योतिष के चमत्कारी उपाय, फ्री सर्विस और रोचक जानकारी के लिए ज्वाइन करें हमारा टेलिग्राम चैनल

Google News पर हमसे जुड़ने के लिए हमें यहां क्लीक कर फॉलो करें।

ज्योतिष, धर्म, व्रत एवं त्योहार से जुड़ी ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्वीटर @ganeshavoice1 पर फॉलो करें।

maheshshivapress
महेश के. शिवा www.ganeshavoice.in के मुख्य संपादक हैं। जो सनातन संस्कृति, धर्म, संस्कृति और हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतें हैं। इन्हें ज्योतिष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।
http://ganeshavoice.in